नई दिल्ली: केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने शुक्रवार को दिल्ली में प्रदूषण के मुद्दे का राजनीतिकरण करने और पड़ोसी राज्यों व केंद्र सहित हर किसी पर दोष लगाने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की निंदा की. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि दिल्ली एक गैस चैंबर में बदल गई है.


उन्होंने एक ट्वीट में कहा, “पड़ोसी राज्यों में फसल जलाने से निकले धुंए के कारण दिल्ली गैस चैंबर में बदल चुकी है. यह बहुत ही महत्वपूर्ण है कि हम इस जहरीली हवा से खुद को बचाएं.” एक कार्यक्रम में जावड़ेकर ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री दिल्ली के प्रदूषण पर राजनीति कर रहे हैं और पंजाब व हरियाणा को पराली जलाने के लिए दोषी ठहरा रहे हैं.

मंत्री ने कहा कि अगर दोषी ठहराने का खेल शुरू होता है तो बहुत-सी छिपी चीजें बाहर आएंगी. दूसरों को दोष देने के बजाए लोगों को राहत पहुंचाने के लिए सभी के बीच सहयोग का प्रयास होना चाहिए. दिल्ली सरकार के रवैए का हवाला देते हुए जावड़ेकर ने कहा कि उन्होंने 3,500 करोड़ रुपये कभी नहीं दिए, जिसे स्थानीय सरकार को दिल्ली के आसपास के क्षेत्र में ईस्टर्न पेरिफरल एक्सप्रेसवे व बाईपास के निर्माण के लिए योगदान देना था. आखिरकार अदालत को दखल देना पड़ा और 1000 करोड़ रुपये परियोजना के लिए जमा करने के लिए कहा गया.