नई दिल्ली. 2019 में होने वाले आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर राजनीतिक दलों ने विभिन्न संगठनों से मेल-मिलाप का दौर शुरू कर दिया है. भारतीय जनता पार्टी इसको लेकर केंद्र सरकार के 4 साल पूरा होने के बहाने ‘संपर्क फॉर समर्थन’ अभियान चला रही है. वहीं, कांग्रेस के नेता भी अलग-अलग संगठनों से मिल रहे हैं. इसी क्रम में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने बीते दिनों उत्तराखंड के हरिद्वार में हिन्दू धर्मगुरुओं और गायत्री परिवार के प्रमुख प्रणव पांड्या से मुलाकात की. इसके बाद इन धर्मगुरुओं के कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से भी मुलाकात की बात उठी. इस पर प्रणव पांड्या ने अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा को परिवार की ओर से समर्थन देने का संकेत देते हुए कहा कि गायत्री परिवार अमित शाह की तरह राहुल गांधी को वीआईपी सम्मान नहीं दे सकता. उन्होंने इसका कारण पूछे जाने पर कहा, ‘मुझे राहुल गांधी की शक्ल अच्छी नहीं लगती है.’Also Read - क्या अमित शाह के दौरे से जुड़ा है कश्मीर में बाइक जब्त करना और इंटरनेट का बंद होना? जम्मू कश्मीर पुलिस ने दी सफाई

बोले पांड्या- राहुल को आना है तो आएं
इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, गायत्री परिवार के प्रमुख प्रणव पांड्या ने बुधवार को हरिद्वार में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत के साथ हुई एक बैठक में शिरकत की. इस बैठक के बाद उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बारे में कहा, ‘भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की तरह हम उन्हें रिसीव (आगवानी) नहीं करेंगे. वो आएं तो आएं. हमें उसकी शक्ल अच्छी नहीं लगती.’ बता दें कि बीते रविवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने हरिद्वार में हिन्दू धर्मगुरुओं से मुलाकात की थी. इसी दौरान उन्होंने गायत्री परिवार के प्रमुख प्रणव पांड्या से भी भेंट की थी. अमित शाह ने लोकसभा चुनाव के मद्देनजर समर्थन के लिए जूना अखाड़ा के स्वामी अवधेशानंद और हरिद्वार में भारत माता मंदिर की स्थापना करने वाले स्वामी सत्यमित्रानंद से भी मुलाकात की थी. Also Read - Rahul Gandhi Defamation Case: राहुल गांधी के खिलाफ मानहानि मामले में सुनवाई 13 नवंबर तक टली, जानिए पूरा मामला

Amit-MohanAlso Read - बिहार के पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने कहा, मोदीजी, 15 दिन के लिए जम्मू-कश्मीर बिहारियों को सौंप दीजिए, फिर देखिए

संघ प्रमुख की धर्मगुरुओं के साथ हुई बैठक
इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत बुधवार को हरिद्वार में थे. इस दौरान उन्होंने कई हिन्दू संगठनों के साथ बैठक की. इस बैठक में गायत्री परिवार के प्रमुख प्रणव पांड्या भी शामिल हुए थे. मोहन भागवत की बैठक में जूना अखाड़ा के स्वामी अवधेशानंद गिरि, उदासीन पंचायती अखाड़ा के प्रमुख ज्ञानानंद महाराज, पतंजलि योगपीठ के आचार्य बालकृष्ण मौजूद थे. इसी बैठक के बाद गायत्री परिवार के प्रमुख ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ विवादित बयान दिया.

15 करोड़ अनुयायियों वाला संगठन
अखिल विश्व गायत्री परिवार के अनुयायी भारत समेत कई देशों में फैले हुए हैं. हरिद्वार में स्थित शांतिकुंज आश्रम द्वारा संचालित इस संगठन की स्थापना पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य ने की थी. ‘वैदिक संस्कृति’ का विश्वभर में प्रसार करने और ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ के सिद्धांत पर चलने के उद्देश्य से स्थापित इस संगठन का दावा है कि दुनियाभर में उसके 15 करोड़ अनुयायी हैं. गायत्री परिवार के अनुयायियों की इतनी बड़ी तादाद को देखते हुए, लोकसभा चुनाव के मद्देनजर सभी राजनीतिक दल इस संगठन के समर्थन के प्रति आशा भरी नजरों से देख रहे हैं. ऐसे में संगठन के प्रमुख द्वारा कांग्रेस अध्यक्ष के लिए दिए गए बयान से विभिन्न दलों में खलबली मचना स्वाभाविक है.