नई दिल्ली: चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर जल्द ही कांग्रेस पार्टी में शामिल हो सकते हैं. ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि पीके खुद अपनी नई राजनीतिक पारी शुरू करने के मूड में हैं. दरअसल राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के साथ उनके मुलाकात के बाद राजनीति गलियारों में इस बात की हलचल तेज हो गई है कि वे कांग्रेस पार्टी में शामिल हो सकते हैं. बता दें कि ऐसी जानकारी तक सामने आई है जिसके मुताबिक पीके को पार्टी में शामिल करने को लेकर उन्होंने पार्टी के नेताओं से राय मांगी है.Also Read - राहुल-प्रियंका मेरे बच्चों की तरह, इन्हें अनुभव की कमी, सिद्धू के खिलाफ प्रत्याशी उतारूंगा: अमरिंदर सिंह

बता दें कि राहुल गांधी और प्रशांत किशोर द्वारा इस बाबत किसी प्रकार का बयान जारी नहीं किया गया है. वहीं एक खबर के मुताबिक 22 जुलाई को राहुल गांधी की अध्यक्षता में एक बैठक में चर्चा की गई थी. इस बैठक में एके एंटनी, मल्लिकार्जुन खड़गे, अंबिका सोनी, और केसी वेणुगोपाल जैसे दिग्गज कांग्रेस पार्टी के नेता मौजूद थे. Also Read - उमा भारती ने कहा- अफसरों की औकात ही क्या, वो हमारी चप्पल उठाते हैं, नेता उनकी...

हिंदुस्तान टाइम्स में छपी एख खबर के मुताबिक अगर दोनों पक्ष इस बाबत सहमति जताते हैं तो प्रशांत किशोर महासचिव के रूप में कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं. बता दें कि इस मामले में कुछ दिनों में इस पर राहुल गांधी और दूसरे नेता अंतिम निर्णय लेने वाले हैं. हालांकि इससे पहले वे पार्टी में नेताओं से परामर्श लेना चाहते हैं. Also Read - CM पद की शपथ लेते ही कुर्सी छोड़ने का दबाव, चरणजीत सिंह चन्नी से महिला आयोग ने माँगा इस्तीफा, जानें वजह

जानकारी के मुताबिक कांग्रेस पार्टी प्रशांत किशोर द्वारा सुझाई गई रणनीतियों को अपनाने की इच्छा रखती है और परामर्श के दौरान एक आम सहमति भी विकसित हुई है. पीके ने आगे कहा कि इसे लेकर हम आशावदी है औंर कांग्रेस पार्टी के बगैर भाजपा को हरा पाना असंभव है. गौरतलब है कि बीते दिनों पीके ने कहा था कि उन्हें नहीं लगता कि कोई तीसरा या चौथा मोर्चा बिना कांग्रेस को शामिल किए नरेंद्र मोदी को हरा सकता है.