भारत के राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने नोटबंदी पर बोलते हुए कहा कि इसका असर अर्थव्यवस्था पर पड़ सकता है। राष्ट्रपति मुखर्जी ने कहा कि इसे फैसले से अर्थव्यवस्था की रफ्तार धीमी हो सकती है। यह असर कुछ समय के लिए ही पड़ेगा। हालांकि खबरों की मानें तो राष्ट्रपति ने मोदी सरकार के नोटबंदी के फैसले की तारीफ भी की है।

प्रणब मुखर्जी ने कहा, ‘कालेधन और भ्रष्टाचार खत्म करने के लिए लिए गए नोटबंदी के फैसले से कुछ समय के लिए भारत की अर्थव्यवस्था की रफ्तार धीमी हो सकती है।’ उनका मानना है कि इन हालातों में गरीबों को दिक्कतों से बाहर निकालने के लिए इस मामले में ज्यादा सतर्क रहना चाहिए।

गौरतलब है कि 8 नवंबर 2016 को मोदी सरकार ने 500-1000 के पुराने नोट बंद करने की घोषणा की थी। एक तय समस सीमा 30 दिसंबर, 2016 तक बैंकों से पुराने नोट बदलने की सुविधा थी, जिसे बाद में बदल दिया गया।