नई दिल्ली: गुड्स एंड सर्विसेस टैक्स (जीएसटी) 1 जुलाई से पूरे देश में लागू हो गया है. जीएसटी लॉन्चिग के मौके पर राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि जीएसटी लागू करना एक एतिहासिक कदम है. अब हम एक नई टैक्‍स व्‍यवस्‍था को अपनाएंगे. उन्होंने कहा कि यह मौका व्‍यक्तिगत रूप से मेरे लिए बेहद खास है. जीएसटी पर मेरा विश्वास सही निकला.
Also Read - PM मोदी ने 'मन की बात' में जिस कुत्ते राकेश का किया था जिक्र, मेरठ में उसकी मौत- जानें वजह...

  Also Read - JP Nadda Birthday: ABVP के छात्र नेता से लेकर BJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष तक, जेपी नड्डा ने ऐसे छुईं ऊँचाईयां

उन्होंने कहा,  ‘जीएसटी की शुरुआत राष्‍ट्र के लिए एक महत्‍वपूर्ण घटना है और यह मेरे लिए भी संतोषजनक लम्‍हा है क्‍योंकि बतौर वित्त मंत्री मैंने ही 22 मार्च, 2011 को संविधान संशोधन विधेयक पेश किया था. Also Read - याहू पर 2020 में सबसे ज्यादा सर्च किए गए सेलेब्स में सुशांत पहले नंबर पर, पीएम मोदी समेत ये हस्तियां हैं टॉप 10 में- See List

प्रणब मुखर्जी ने कहा कि जब ये बिल पास किया गया था तब मुझे ये मौका मिला कि संविधान का 101वां बदलाव किया जाए. ये केंद्र और राज्य का ज्वाइंट फोरम है. यह याद रखने योग्य है कि 18 मीटिंग के दौरान सभी निर्णय सर्वसम्मति के साथ लिए गए. टैक्स के लिए एक नए युग की शुरुआत होने वाली है. जीएसटी को बनाने के पार्टीगत विरोधों को दरकिनार किया गया.ये बेहद खुशी की बात है.

राष्ट्रपति ने जीएसटी काउंसिल की तारीफ करते हुए कहा कि काउंसिल ने अपना काम अच्छी तरह किया. जीएसटी में मनोरंजन को भी शामिल किया गया. जीएसटी को लागू करने के लिए नेताओं के साथ-साथ अधिकारियों ने भी काफी मेहनत की है.