नई दिल्लीः राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जाने माने संगीतकार इलैयाराजा, हिंदुत्व विचारक परमेश्वरन परमेश्वरन और 41 अन्य जानीमानी हस्तियों को प्रतिष्ठित पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया. राष्ट्रपति भवन में आयोजित कार्यक्रम में ये पुरस्कार दिए गए. कार्यक्रम में उप- राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय मंत्री और कई अन्य गणमान्य लोगों ने शिरकत की.Also Read - 75वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्वसंध्या पर देश के नाम राष्ट्रपति का संबोधन, बोले- कोविड महामारी अभी समाप्त नहीं हुई, प्रोटोकॉल के अनुरूप जल्द टीका लगवा लें

Also Read - Rashtrapati Bhavan: एक अगस्त से आम लोगों के लिए खुल जाएगा राष्ट्रपति भवन, जानें टाइमिंग

सरकार ने इस साल गरीबों की सेवा करने वालों, नि: शुल्क शिक्षा मुहैया कराने वाले, स्कूल संचालित करने वाले और वैश्विक स्तर पर जनजातीय कलाकारों को लोकप्रिय बनाने वाली कई हस्तियों को पद्म पुरस्कारों के लिए चुना है. एक अधिकारी ने बताया कि इस साल 84 पद्म पुरस्कारों की घोषणा की गई थी. इस सूची में तीन पद्म विभूषण, नौ पद्म भूषण और 72 पद्मश्री पुरस्कार शामिल थे. Also Read - राष्‍ट्रपति कोविंद और PM मोदी ने मिल्खा सिंह के निधन पर जताया गहरा शोक

शटलर स्टार शटलर किदांबी श्रीकांत ने पदम श्री अवॉर्ड ग्रहण किया.

हर साल गणतंत्र दिवस की पूर्वसंध्या पर पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्मश्री पुरस्कारों की घोषणा की जाती है. पद्म पुरस्कार 2018 के लिए नामित शेष लोगों को दो अप्रैल को आयोजित विशेष कार्यक्रम में सम्मानित किया जाएगा.

गौरतलब है कि गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने 43 प्रमुख लोगों के लिए सोमवार रात्रि भोज की मेजबानी की थि जिन्हें मंगलवार को पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया गया. सिंह ने ट्वीट किया था कि पद्म पुरस्कार विजेताओं के साथ शानदार बातचीत हुई. उनके त्याग और समाज के लिए नि:स्वार्थ सेवा से जुड़ी उनकी कहानियों को सुनना वास्तव में बहुत अधिक प्रेरणादायक रहा. उनके परिवर्तनकारी कार्य सम्मान के हकदार हैं. गृहमंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि यह पहला मौका था जब मंत्रालय की ओर से पद्म पुरस्कार विजेताओं के लिए रात्रि भोज का आयोजन किया गया.