नई दिल्ली: आज क्रिसमस है और पूरी दुनिया में इस फेस्टिवल की धूम मची है. इसी मौके पर देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सभी भारतीयों, खासकर ईसाई समुदाय के लोगों को क्रिसमस की शुभकामनाएं दीं. उन्होंने कहा कि ईसा मसीह के दिए संदेशों में दुनिया में व्याप्त अशांति, घृणा और हिंसा से राहत प्रदान करने की ताकत है.

अवैध प्रवासियों के लिए एक डिटेंशन सेंटर असम में चल रहा है, कहीं और की जानकारी नहीं: अमित शाह

उन्होंने कहा, ‘ईसा मसीह के जीवन से मानवता को प्यार, दया और भाईचारे का अनुपालन करने का संदेश मिलता है. आज जब दुनिया अशांति, घृणा और हिंसा से पीड़ित है तो उनके शब्दों व कार्यों से न सिर्फ राहत मिलेगी, बल्कि आगे का रास्ता भी दिखेगा. समय आ गया है कि हम ईसा मसीह के बताए रास्ते पर चलने का संकल्प लें और अधिक दयालु एवं समतामूलक समाज का निर्माण करें.’

इस त्योहार के लिए बड़ों से ज्यादा बच्चे उत्साहित रहते हैं. ये भी मान्यता है कि क्रिसमस की रात को सैंटा क्लॉज बच्चों के लिए तोहफे लेकर आते हैं. इस मौके पर ईसाई समुदाय के लोग घरों में क्रिसमस ट्री को भी सजाते हैं. सबसे पहले क्रिसमस ट्री के साथ इस त्योहार को मनाने की शुरुआत उत्तरी यूरोप में हजारों सालों पहले हुई थी.