नई दिल्ली: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को यहां राष्ट्रपति भवन में पांच साल से कम उम्र के बच्चों को पोलियो रोधी दवा पिलाकर 2021 के लिए पल्स पोलियो कार्यक्रम का शुभारंभ किया. स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान में बताया कि राष्ट्रपति कोविंद और (देश की) प्रथम महिला सविता कोविंद ने पोलियो राष्ट्रीय टीकाकरण दिवस की पूर्व संध्या पर बच्चों को पोलियो रोधी दवा पिलाई.Also Read - Padma Awards 2022: पद्म पुरस्कारों की घोषणा, जनरल बिपिन रावत को पद्म विभूषण, कोविड वैक्सीन निर्माताओं को पद्म भूषण; देखें पूरी List

पोलियो राष्ट्रीय टीकाकरण दिवस 31 जनवरी को मनाया जाता है और इसे ‘पोलियो रविवार’ के नाम से भी जाना जाता है. मंत्रालय ने कहा, ‘‘ देश को पोलियोमुक्त बनाए रखने के भारत सरकार के अभियान के तहत पांच साल के कम उम्र के करीब 17 करोड़ बच्चों को पोलियो रोधी दवा पिलाई जाएगी. Also Read - आजादी के 75 साल में पहली बार पाकिस्‍तान से तीर्थयात्र‍ी PIA की स्‍पेशल फ्लाइट से पहुंचेंगे भारत

Also Read - 'कोरोना के खिलाफ लड़ाई अब भी जारी, हमें सतर्क रहना चाहिए'- गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति के संबोधन की खास बातें

इस देशव्यापी अभियान में करीब 24 लाख स्वंयसेवक, 1.5 लाख सुपरवाइजर और कई नागरिक संगठन, डब्ल्यूएचओ, यूनिसेफ और रोटरी आदि सहयोग करेंगे.’’ बयान में कहा गया, ‘‘ स्वास्थ्यकर्मी दो करोड़ परिवारों तक जाएंगे, ताकि कोई भी बच्चा पोलियो रोधी टीके के सुरक्षाचक्र से वंचित न रह सके.’’

इस अवसर पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा, ‘‘ हम अपने बच्चों को अधिकाधिक बीमारियों से बचाने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन इसके साथ ही यह अहम है कि कार्यक्रम के तहत सभी टीके हमारे देश के हर आखिरी बच्चे तक पहुंचें.’’