School Reopening Latest Updates: देश में कोरोना की दूसरी लहर का कहर कम होने के बाद ज्यादातर राज्यों से लॉकडाउन हटा दिया गया है. लॉकडाउन हटने के बाद चरणबद्ध तरीके से अनलॉक किया गया है. तीसरी लहर की आशंकाओं के बीच धीरे-धीरे जरूरी गतिविधियों को इजाजत दी जा रही है. ज्यादातर राज्यों ने स्कूलों को खोलने का फैसला किया है. इन सबके बीच ICMR के डीजी बलराम भार्गव (Dr Balram Bhargava) ने बच्चों के स्कूलों को खोले जाने को लेकर बड़ा बयान दिया है. ICMR के DG से जब यह सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि बच्चे कोरोना के खिलाफ काफी मजबूत हैं.Also Read - School Kab Khulenge: चंडीगढ़ में इस तारीख से खुल जाएंगे 7वीं और 8वीं के स्कूल, जानें प्रशासन का क्या है फैसला...

स्वास्थ्य मंत्रालय की प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान डॉक्टर बलराम भार्गव ने कहा कि बच्चे वयस्कों के मुकाबले संक्रमण से ज्यादा अच्छी तरह से लड़ सकते हैं. उन्होंने कहा कि यूरोप के कई देशों ने कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच भी प्राइमरी स्कूलों को बंद नहीं किया था. इसलिए शुरुआत में प्राइमरी स्कूल खोले जा सकते हैं और उसके बाद सेकंडरी स्कूल खोले जा सकते हैं. Also Read - Khul Gaye School: कोरोना की तीसरी लहर की आशंका, इन राज्यों ने खोल दिए स्कूल, यहां भी खुलेंगे स्कूल, जानिए..

Also Read - UP Me Kab Khulenge School: यूपी में इस दिन से खुलेंगे स्कूल, योगी सरकार का बड़ा फैसला

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान उन्होंने कहा कि एडल्ट के मुकाबले बच्चों में इम्युनिटी ज्यादा होती है. भार्गव ने कहा कि देश में स्कूलों में को जब खोलने का विचार किया जाएगा तो सबसे बेहतर होगा कि प्राइमरी स्कूलों को पहले खोला जा. सेकेंडरी स्कूलों के मुकाबले प्राइमरी स्कूलों को वरीयता दी जाए. हालांकि प्राइमरी स्कूलों को खोलने से पहले यह तय करना होगा कि पूरे सपोर्ट स्टाफ का टीकाकरण हो चुका हो. बस ड्राइवर से लेकर सभी कर्मचारियों के टीकाकरण के बाद ही स्कूलों को खोलने की इजाजत होनी चाहिए.

इससे पहले AIIMS निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा कि स्कूलों को खोलने पर सरकार को विचार करना चाहिए. उन्होंने इंडिया टुडे से बातचीत में कहा कि अब समय आ गया है कि स्कूलों को फिर से खोलने पर सहमत हो जाना चाहिए. डॉ. गुलेरिया ने कहा कि स्कूल खुलने के कारण हमारे बच्चों के लिए सिर्फ सामान्य जीवन देना नहीं बल्कि एक बच्चे के समग्र विकास में स्कूली शिक्षा का महत्व बहुत मायने रखता है. उन्होंने कहा कि ऑनलाइन क्लास से ज्यादा बच्चों का स्कूल जाना जरूरी है.

बता दें कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, देश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 30,093 नए मामले दर्ज किये गए जबकि इस दौरान 374 मरीजों की मौत हो गई. देश में अब तक कोरोना से 4,14,482 लोग जान गंवा चुके हैं. वहीं, संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 3,11,74,322 हो गया है. देश में अभी 4,06,130 एक्टिव मामले हैं और 3,03,53,710 लोग इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं. भारत में आज दर्ज किये गए नए केस पिछले 125 दिनों में सबसे कम हैं.

(इनपुट: ANI,भाषा)