कोलकाता: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अंतरिम बजट को लेकर पश्चिम बंगाल के ठाकुरनगर में एक सार्वजनिक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि यह सिर्फ शुरुआत है, लोकसभा चुनाव के बाद मुख्य बजट युवाओं, किसानों और समाज के अन्य वर्गों के लिए बहुत अधिक होगा. साथ ही उन्‍होंने पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री पर हमला बोलते हुए कहा कि ये भीड़ देखने के बाद अब मुझे समझ आ रहा है कि दीदी (ममता बनर्जी) हिंसा पर क्‍यूं उतर आईं हैं. Also Read - कोलकाता में 'पराक्रम दिवस' समारोह को संबोधित करेंगे पीएम मोदी, असम में जमीन के पट्टों का होगा वितरण

  Also Read - PM मोदी, राज्‍यों के CM और सांसदों को दूसरे चरण में लगेगा Covid-19 का टीका

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सीमावर्ती उत्तर 24 परगना जिला और औद्योगिक नगर दुर्गापुर में रैलियों के साथ आगामी लोकसभा चुनावों के लिए पश्चिम बंगाल में भाजपा के प्रचार अभियान की शुरूआत की. ठाकुरनगर में रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मेरी सरकार का बजट किसानों और श्रमिक वर्ग के कल्याण लिए एक ऐतिहासिक कदम. सरकार ने किसानों, श्रमिक वर्ग की स्थिति बेहतर करने के लिए ईमानदारी से कदम उठाएं हैं. स्वतंत्रता के बाद कई वर्षों तक गांवों को नजरअंदाज किया गया. लेकिन हमने सबका विकास करने का बीड़ा उठाया है.

कांग्रेस सरकार पर बोला हमला
मध्‍यप्रदेश, राजस्‍थान की कांग्रेस सरकार पर हमला बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मध्‍यप्रदेश में उन किसानों का कर्ज माफ हो रहा है, जिनके ऊपर कोई कर्ज ही नहीं है. जबकि राजस्‍थान सरकार ने कर्ज माफी करने से हाथ खड़े कर दिए हैं. पश्चिम बंगाल की ठाकुरनगर रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने करीब 14 मिनट तक संबोधित किया.

यह है रैली का महत्‍व
पीएम मोदी की आज हो रही दोनों रैलियों के आयोजन स्थल का राजनीतिक महत्व है. आयोजन स्थल ठाकुरनगर में मतुआ समुदाय की अच्छी खासी आबादी है. मूल रूप से यह समुदाय पूर्वी पाकिस्तान (अब बांग्लादेश) से यहां आया था. धार्मिक अत्याचार की वजह से 1950 के दशक में इन लोगों ने यहां पर पनाह ली थी. मतुआ संप्रदाय की महारानी वीणापाणि देवी के घर के नजदीक रैली का आयोजन किया जा रहा है.

पांच लोकसभा सीटों पर पड़ेगा असर
भाजपा की प्रदेश इकाई को उम्मीद है कि मोदी ठाकुरनगर में नागरिकता (संशोधन) विधेयक पर बोलेंगे. पार्टी सूत्रों ने कहा कि भाजपा से संबद्ध ऑल इंडिया मतुआ महासंघ रैली का आयोजन कर रहा है. पश्चिम बंगाल में मतुआ लोगों की आबादी 30 लाख होने का अनुमान है. उत्तर और दक्षिण 24 परगना जिले में कम से कम पांच लोकसभा सीटों पर इस समुदाय का प्रभाव है .

भाजपा का ‘गणतंत्र बचाओ कार्यक्रम
दुर्गापुर रैली का आयोजन राज्य में भाजपा के ‘गणतंत्र बचाओ कार्यक्रम’ के तहत होगा. औद्योगिक नगर दुर्गापुर आसनसोल लोकसभा क्षेत्र के नजदीक है. केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो आसनसोल का प्रतिनिधित्व करते हैं. भाजपा के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने कहा कि हमारे पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने 23 जनवरी को मालदा की रैली से बंगाल में चुनाव अभियान की शुरूआत की थी. मोदी जी भी नदिया और बर्द्धमान जिले में अभियान शुरू करेंगे और बंगाल के अभियान को गति देंगे. इसके बाद सिलिगुड़ी में आठ फरवरी को मोदी की तीसरी रैली आयोजित होने वाली है.