पटना. राजग की रविवार को यहां होने वाली रैली को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संबोधित किया. इस दौरान बिहार सीएम नीतीश कुमार भी वहां मौजूद थे. 10 साल के बाद ये मौका है जब नीतीश और पीएम मोदी एक ही मंच पर मौजूद हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक, मंच पर 40 नेता बैठे हैं.

साल 2009 में लुधियाना में एनडीए की रैली के दौरान मंच पर एक साथ दिखे थे नीतीश कुमार और नरेंद्र मोदी. इसके बाद से दोनों कभी भी एक मंच पर नहीं आए. साल 2014 में नीतीश कुमार नरेंद्र मोदी के नाम पर एनडीए से अलग हो गए थे. इसके बाद से दोनों के रिश्ते ठीक नहीं रहे थे. इन दोनों की नजदीकी लोकसभा चुनाव के लिए संजीवनी साबित हो सकती है.

सुरक्षा के कड़े इंतजाम
पीएम मोदी की रैली को देखते हुए गांधी मैदान पर टिफिन, बोतल और बैग ले जाने पर प्रतिबंध लगा है. वहां सुरक्षा के लिए 4000 सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई है. भाजपा के बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव ने दावा किया कि रैली गांधी मैदान में लोगों की मौजूदगी के हिसाब से अब तक की सबसे बड़ी रैली है.

अफवाह फैलाने वाले को जेल
बता दें कि इससे पहले पटना शहर के गांधी मैदान में आगामी तीन मार्च को राजग की प्रस्तावित रैली में विस्फोट की अफवाह फैलाने वाले एक व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. कोतवाली थाना अध्यक्ष रामाशंकर सिंह ने बुधवार को बताया कि गिरफ्तार व्यक्ति का नाम उदयन राय है जो कि कदमकुआं थाना अंतर्गत दरियापुर गोला क्षेत्र का निवासी है. उदयन पर व्हाट्सएप्प के जरिए उक्त रैली में विस्फोट होने को लेकर अफवाह फैलाने का आरोप था.