नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बृहस्पतिवार को लोकसभा और राज्यसभा के सदस्यों को राष्ट्रीय राजधानी स्थित एक पांच सितारा होटल में रात्रिभोज का आयोजन किया. रात्रिभोज के लिये दोनों सदनों के लगभग 750 सदस्यों को संसदीय कार्य मंत्री की ओर से आमंत्रण भेजा गया.

होटल अशोक में आयोजित रात्रिभोज में राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद के अलावा राजग और संप्रग के घटक दलों के विभिन्न नेता शामिल हुए. इनमें द्रमुक की कनिमोई, आप के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह, भाजपा में शामिल हुये तेदेपा के तीन सांसद वाई एस चौधरी, सी एम रमेश और टी जी वेंकटेश भी शामिल थे. सूत्रों के अनुसार प्रधानमंत्री द्वारा भोज के आयोजन का मकसद नये संसद सदस्यों को पुराने सदस्यों एवं केन्द्रीय मंत्रियों से मिलने का अवसर मुहैया कराना है.

सभी सांसदों की मेजबानी करना प्रधानमंत्री की अच्छी पहल: कार्ति
उल्लेखनीय है कि संसद का सत्र शुरु होने से पहले भी प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को आहूत सर्वदलीय बैठक में कहा था कि जनहित के मुद्दों पर राजनीतिक मतभेदों को दरकिनार कर विचार विमर्श किया जाना चाहिये. उधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आयोजित रात्रिभोज में भाग लेने के बाद लौट रहे कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम ने कहा कि सभी सांसदों की मेजबानी करना प्रधानमंत्री की अच्छी पहल है. हम में से ज्यादातर पहली बार सांसद बने हैं. यह पूरी तरह से अनौपचारिक और एक अच्छा आयोजन था.