नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शनिवार को अपनी सरकार के दूसरे कार्यकाल के शुरुआती छह महीने के दौरान विभिन्न मंत्रालयों द्वारा किए गए कार्य की समीक्षा कर रहे हैं. सरकारी सूत्रों ने यह जानकारी देते हुए बताया कि यह बैठक शाम तक चलने की संभावना है और इस दौरान मंत्रालय अपने विभिन्न निर्णयों पर संक्षिप्त प्रस्तुति दे रहे हैं. इसमें मुख्य जोर कृषि, ग्रामीण विकास और सामाजिक क्षेत्र पर है.

यह बैठक ऐसे समय में हो रही है जब नागरिकता संशोधन कानून और प्रस्तावित एनआरसी को लेकर देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन हो रहा है. हालांकि, यह पता नहीं चला है कि बैठक में यह मुद्दा उठा या नहीं. सूत्रों ने बताया कि आमतौर पर मंत्रिपरिषद् की बैठक प्रत्येक महीने कैबिनेट की बैठक के बाद होती है, लेकिन इस बार यह बैठक अलग से हो रही है.

नियमित कैबिनेट बैठक 24 दिसंबर को होगी. पिछले कुछ सप्ताहों में प्रधानमंत्री ने कैबिनेट की बैठक के दौरान सरकार की नीतियों को लागू करने को लेकर विभिन्न मंत्रालयों की ओर से हुई प्रगति की समीक्षा की है. गौरतलब है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा नीत सरकार बड़े जनादेश के साथ सत्ता में आई और नवंबर में उसके छह महीने पूरे हुए हैं.