नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को गोरखपुर के फर्टिलाइजर मैदान से किसान सम्मान निधि योजना का शुभारंभ किया. साथ ही उन्होंने किसानों को क्रेडिट कार्ड का भी वितरण किया. इस मौके पर कृषि मंत्री राधामोहन सिंह और प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे. प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा, “पहले की सरकारों ने किसानों के लिए कागजों पर योजनाएं तो बनाईं. लेकिन उनकी योजना किसानों को सशक्त करने की नहीं बल्कि उन्हें छोटी-छोटी चीजों के लिए तरसाने के लिए थी. उनकी योजना कभी किसानों का भला करने की नहीं थी.”

उन्होंने कहा, “कांग्रेस व इनके चेले समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाजवादी पार्टी (बसपा) को किसान केवल चुनाव के समय ही याद आते हैं. राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की सरकार ने किसान की छोटी-छोटी दिक्कतों पर ध्यान देने के साथ ही उनकी चुनौतियों के संपूर्ण निवारण के लिए भी काम किया. किसान सशक्त बनें, इसी लक्ष्य के साथ हम निकले हैं.” उन्होंने कहा, “मैं राज्यों को चेतावनी देता हूं कि अगर आपने किसानों की सूची सरकार को नहीं पहुंचाई तो किसानों की बद्दुआएं आपकी राजनीति को तहस नहस कर देंगी. आप विरोधी हो सकते हैं, लेकिन किसान की मांगों के साथ खिलवाड़ क्यों करते हो.” इस दौरान मोदी ने कहा, “मैं किसानों से कहना चाहता हूं कि योजना को लेकर किसी के बहकावे में न आएं. जब विरोधियों ने हमारी इस योजना के बारे में संसद में सुना तो सबके चेहरे लटक गए थे. उन्हें लग गया था कि किसान मोदी के साथ हो गए हैं. इसलिए झूठ बोलना और अफवाहें फैलाना उनका जन्मजात काम है.”

लोकसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी ने आखिरी बार की ‘मन की बात’, सत्ता में वापसी का जताया भरोसा

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा विपक्ष ने एक अफवाह और शुरू की है जहां वह कह रहे हैं कि ‘मोदी ने अभी 2000 दिया है. बाद में भी देगा लेकिन एक साल बाद वापस ले लेगा.’ किसान भाइयों यह आपका पैसा है इसे कोई वापस नहीं ले सकता. इसलिए ऐसी अफवाह फैलाने वालों को मुंहतोड़ जवाब देना है. उन्होंने कहा कि मैं किसानों को सीधे मदद पहुंचाने के लिए किसान सम्मान निधि योजना को किसानों के चरणों में अर्पित करता हूं. इससे पूर्वांचल का विकास तेजी से होगा. मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि में देश के 21 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश के किसानों को 2000 रुपए की पहली किस्त सीधे खातों में ट्रांसफर हो चुकी है. इसकी अगली किस्त कुछ दिनों में जारी हो जाएगी. 1 करोड़ 1 लाख किसानों के खाते में यह राशि भेजी गई है. इससे किसानों को बीज, खाद, दवा खरीदने के लिए परेशान नहीं होना होगा. केंद्र सरकार हर साल 6000 रुपए सीधे आपके खाते में ट्रांसफर करेगी.


प्रधानमंत्री ने कहा कि गोरखपुर की धरती पर हो रहे इस कार्यक्रम से देश के दो लाख कॉमन सर्विस सेंटर के जरिए लाखों किसान भी जुड़ रहे हैं. यहां पर आज स्वास्थ्य, सड़क, रेल व रोजगार सहित हर क्षेत्र की योजनाओं का शुभारंभ हो रहा है. कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के किसान तथा मजदूरों के सपनों को पूरा कर रहे हैं. राधामोहन सिंह ने कहा कि जब-जब चुनाव का मौसम आता है तो वे लोग किसान की बात करते हैं. कर्ज माफ करने की बात करते हैं लेकिन हमारे प्रधानमंत्री ने इसे करके दिखा दिया. अब किसानों के पास रहने के लिए अपने घर-घर में गैस कनेक्शन और बिजली है. इससे पहले तो किसानों के लिए केवल बातें होती थीं.


प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने किसान सम्मान निधि योजना का शुभारंभ करने के लिए गोरखपुर की धरती को चुना, इसके लिए हम आभारी हैं. उन्होंने विपक्ष पर हमला करते हुए कहा कि गोरखपुर खाद कारखाने का लगभग 60 प्रतिशत काम हमने पूरा कराया है जिसे विपक्षी पार्टियों की सरकार के समय बंद कर दिया गया था. उन्होंने कहा कि सपा-बसपा गठबंधन ने किसानों का नुकसान किया. उन्होंने प्रदेश की कई चीनी मिलों को बंद कर दिया था. आदित्यनाथ ने कहा कि काम करने का तरीका नेताओं को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सीखना होगा. इन्होंने जो कहा वह करके दिखाया है. देश में 55 वर्ष की सरकार के कार्यकाल पर प्रधानमंत्री मोदी का 55 महीने का कार्यकाल भारी है.