Mann ki Baat Live Update: आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मन की बात कार्यक्रम के माध्यम से देश की जनता को कोरोनावायरस के खिलाफ जागरूक करने की कोशिश कर रहे हैं. मैं आपकी दिक्कत समझता हूं, लेकिन ये लॉकडाउन अपने आपको बचाने के लिए है. हम सबको लक्ष्मण रेखा का पालन करना ही होगा नियम तोड़ने वाले अपने जीवन के साथ बहुत बड़ा खिलवाड़ कर रहे हैं. Also Read - क्या कोरोना की संभावित तीसरी लहर में ज्यादा प्रभावित होंगे बच्चे? जानें नए सर्वे में क्या आया सामने...

लॉकडाउन तोड़ेंगे तो कोरोना को हराना मुश्किल हो जाएगा कोरोना अमीर गरीब में फर्क नहीं  करता. कोरोना वायरस इंसानों को खत्म करने की जिद करके बैठा है. अपने संदेश के दौरान उन्होंने  एक IT प्रोफेशनल अशोक कपूर से बात भी की जो कि हाल ही कोरोना वायरस से संक्रमित थे और इलाज के दौरान पूर्ण रूप से ठीक होकर लौटे हैं. Also Read - COVID-19 Vaccine: भारत में सितंबर तक उपलब्ध हो सकती है सीरम इंस्टीट्यूट की दूसरी कोरोना वैक्सीन COVOVAX

अशोक कपूर ने पीएम मोदी से बातचीत में बताया कि कैसे उनके पूरे परिवार ने इस संकट की घड़ी का सामना किया. पीएम मोदी ने कहा कि इस कठिन समय में नियम तोड़ने वाले अपने जीवन के साथ बहुत बड़ा खिलवाड़ कर रहे हैं.

पीएम मोदी ने इस कठिन समय में एक द्रढ़ निश्चय के साथ लगे हुए डॉक्टरों और नर्सों का आभार व्यक्त किया. पीएम मोदी ने कहा कि ये वो लोग हैं जिनकी वजह से हमारी जिंदगी आसानी से चलती है. पीएम मोदी ने बैंक सेक्टर्स में काम कर रहे लोगों का भी आभार वयक्त किया. उन्होंने कहा कि इस समय आप आसानी से डिजिटल सेवा का लाभ उठा रहे हैं इसके पीछे कई लोगों की मेहनत है.

पीएम मोदी ने मन की बात में उन घटनाओं जिक्र किया जिसमें कई बार कुछ संक्रमित लोगों के साथ समाज में बुरा बर्ताव किया जा रहा है. उन्होंने कहा हम सोशल डिस्टेंस की बात कर रहे हैं न कि इमोशनल डिस्टेंस को बढ़ाने की.

पीएम मोदी ने कहा कि कोरोनावायरस की समस्या चुनौतीपूर्ण है. उन्होंने कहा कि कठिन निर्णय ही इस समस्या से भारत को बाहर निकालेंगे. उन्होंने यह भी कहा इस समय हमें गरीबों का भी ध्यान रखना है. पीएम मोदी ने कहा कि अगर कोई गरीब भूखा है तो हमें पहले उसका पेट भरना है.