नई दिल्ली: जब से दुनिया में कोरोना संकट फैला है तब से भारत अपने हर सहयोगी देश से बात कर हरसंभव मदद देने का वादा कर रहा है. इसी क्रम में कोरोना वायरस महामारी से उत्पन्न संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सिंगापुर को चिकित्सा उत्पादों सहित आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति बनाये रखने के लिये हरसंभव सहयोग का वादा किया है. सरकार ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. प्रधानमंत्री कार्यालय के बयान के अनुसार, प्रधानमंत्री मोदी और सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सिएन लुंग ने बृहस्पतिवार को टेलीफोन पर बातचीत की. Also Read - महामारी विशेषज्ञ का दावा, 2020 में विकसित हो सकता कोरोना वैक्सीन, मगर 2021 के अंत तक इसका उत्पादन संभव

इसमें कहा गया है कि दोनों राजनेताओं ने कोविड-19 महामारी से उत्पन्न स्वास्थ्य और आर्थिक चुनौतियों पर अपने-अपने विचारों का आदान-प्रदान किया. दोनों राजनेताओं ने अपने-अपने देशों में महामारी और इसके आर्थिक एवं सामाजिक प्रभावों से निपटने के लिए अपनाए जा रहे उपायों के बारे में एक-दूसरे से जानकारी साझा की. Also Read - Mann ki baat: गांव आत्मनिर्भर होते तो ये हालात न होते, अब अर्थव्यवस्था बढ़ रही है, जानें पीएम मोदी की 15 अहम बातें

प्रधानमंत्री मोदी ने चिकित्सा उत्पादों सहित आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति बनाए रखने के लिए सिंगापुर को हरसंभव सहयोग देने का वादा किया. उन्होंने सिंगापुर में भारतीय नागरिकों को दिए जा रहे व्‍यापक सहयोग के लिए भी सराहना की. Also Read - Mann Ki Baat Live Updates: 'मन की बात' शुरू, पीएम मोदी कर रहे हैं सम्बोधित

बयान के अनुसार, दोनों राजनेताओं ने वर्तमान संदर्भ में भारत-सिंगापुर रणनीतिक साझेदारी के महत्व पर विशेष बल दिया. दोनों राजनेता कोविड-19 से उत्‍पन्‍न वर्तमान और भविष्य की चुनौतियों का समाधान करने के लिए आपसी सहयोग के साथ काम करने पर सहमत हुए. प्रधानमंत्री मोदी ने वर्तमान संकट के दौरान सिंगापुर के लोगों के अच्‍छे स्वास्थ्य और खुशहाली के लिए अपनी शुभकामनाएं भी दीं.

(इनपुट भाषा)