जयपुर: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर देश की छवि को बर्बाद करने का आरोप लगाते हुए कहा कि विदेशी कंपनियां आज यहां निवेश करने से कतरा रही हैं. उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को चुनौती दी है कि वह देश के किसी भी विश्वविद्यालय में जाकर वहां के विद्यार्थियों के सवालों का सामना करें. रामबाग इलाके में कांग्रेस की ‘युवा आक्रोश रैली’ को संबोधित करते हुए राहुल ने अपना भाषण मुख्य रूप से युवाओं, बेरोजगारी व देश की छवि पर केंद्रित रखा. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने किसानों को बर्बाद और मनरेगा को खोखला कर दिया है. उन्होंने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था डगमगा रही है और पिछले 45 साल में सबसे ज्यादा बेरोजगारी आज हिंदुस्तान में है.

राहुल गांधी ने कहा कि चीन का मुकाबला केवल भारत कर सकता है, यह बात पूरी दुनिया जानती है लेकिन मौजूदा हालात में कंपनियां यहां आने से हिचक रही हैं. उन्होंने कहा, ‘‘सारे देश हिंदुस्तान के साथ खड़े होकर हिंदुस्तान को विनिर्माण का हब बनाना चाहते हैं. सारी कंपनियां जो आज चीन में हैं वे हिंदुस्तान में आना चाहती हैं. लेकिन कहती हैं कि हिंदुस्तान के लोग एक दूसरे से लड़ रहे हैं. हिंदुस्तान की सरकार देश में हिंसा फैला रही है. हिंसा के इस माहौल में हम निवेश क्यों करें?’’

उन्होंने देश की परंपरागत छवि को नुकसान पहुंचाने का आरोप भी प्रधानमंत्री मोदी पर लगाया. उन्होंने कहा, ‘‘पूरी दुनिया में हिंदुस्तान की साख एक ऐसे देश के रूप में थी जहां भाईचारा है, प्यार है. इस छवि को नरेंद्र मोदी ने बर्बाद किया है. आज बाकी दुनिया में हिंदुस्तान को ‘रैप कैपिटल’ माना जाता है. हर दिन कहीं न कहीं, किसी न किसी महिला से बलात्कार की खबर आती है. प्रधानमंत्री इसके बारे में नहीं बोलेंगे.’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं प्रधानमंत्री को चुनौती देता हूं कि वह देश के किसी भी विश्वविद्यालय में चले जाएं और अपने भाषण से पहले वहां के विद्यार्थियों के सवालों का सामना करें. युवाओं के दिल में जो सवाल हैं… बेरोजगारी का सवाल, हिंदुस्तान को बांटने को लेकर सवाल, हिंदुस्तान की छवि नष्ट करने का सवाल… इसका जवाब नरेंद्र मोदी कॉलेज, विश्वविद्यालय में जाकर नहीं दे सकते लेकिन नरेंद्र मोदी झूठे वादे जरूर कर सकते हैं.’’

राहुल ने कहा, ‘‘नरेंद्र मोदी ने दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने की बात कही थी, लेकिन पिछले साल हिंदुस्तान में एक करोड़ युवाओं ने रोजगार खोया है.’’ उन्होंने कहा कि एनआरसी की बात होगी, सीएए, एनपीआर की बात होगी लेकिन देश के सामने जो सबसे बड़ी समस्या है, जो इस देश के हर परिवार को चुभती है उस बारे में हमारे प्रधानमंत्री एक शब्द नहीं बोलते हैं. अर्थव्यवस्था में गिरावट को लेकर भी राहुल ने मोदी पर तंज कसा और कहा, ‘‘नरेन्द्र मोदी शायद इकोनोमिक्स पढे़ नहीं हैं, समझे नहीं हैं कि अर्थव्यवस्था तब चलती है जब गरीबों की जेब में पैसा आता है.’’ उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी ने किसानों को बबार्द कर दिया, मनरेगा को खोखला कर दिया, भोजन के अधिकार को बंद कर दिया, नोटबंदी की, गब्बर सिंह टैक्स लागू किया.

कांग्रेस नेता ने कहा कि उन्होंने हिन्दुस्तान के किसान, मजदूर, युवाओं की जेब से पैसा निकाला और 15—20 उद्योगपतियों की जेब में डाल दिया गया. उन्होंने कहा कि जीएसटी से केवल अंबानी- अडानी को फायदा हुआ, जो सबसे बड़े कारोबारी हैं उनको फायदा हुआ लेकिन लाखों करोड़ों युवाओं का और छोटे दुकानदारों, लघु उद्यमियों का धंधा बर्बाद हो गया. राहुल गांधी ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आज तक जीएसटी समझ नहीं आई.’’ रैली को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी संबोधित किया.