नरेंद्र मोदी शनिवार रात अमृतसर के स्वर्ण मंदिर पहुंचे। उनके साथ अफगानिस्तान के प्रेसिडेंट अशरफ गनी भी थे। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यहां मौजूद भक्तों को लंगर में खाना परोसा। मोदी अमृतसर हार्ट ऑफ एशिया कॉन्फ्रेंस में शिरकत के लिए आए हैं। यह कॉन्फ्रेंस शनिवार से शुरू हुई।Also Read - कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने औषधीय खेती को बढ़ावा देने पर दिया जोर, किसानों की आमदनी बढ़ाने के भी बताए उपाय

Also Read - Constitution Day 2021: 'सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, सबका प्रयास' संविधान की भावना की सशक्त अभिव्यक्ति- PM मोदी

उन्हे पंजाब के राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर, सीएम प्रकाश सिंह बादल एवं डिप्टी सीएम सुखबीर सिंह बादल ने मोदी और गनी को एयरपोर्ट पर रिसीव किया। मोदी और गनी सबसे पहले स्वर्ण मंदिर परिसर पहुंचे। यह भी पढ़ें: आज से शुरू हो रहे हार्ट ऑफ एशिया में शिरकत करेंगे PM नरेंद्र मोदी, सरताज अजीज भी आएंगे Also Read - Constitution Day: संसद और सुप्रीम कोर्ट सहित कई समारोहों में शामिल होंगे पीएम मोदी

बेहद साधारण तरीके से वीवीआईपी इंतजाम के बिना मोदी और गनी मंदिर परिसर से काफी दूर पैदल ही चले। रास्ते में स्थानीय लोग और दूर दराज से आए श्रद्धालुओं ने मोदी-मोदी के नारे लगाए। दोनों नेताओं ने स्वर्ण मंदिर के पवित्र सरोवर के जल से अचमन किया।

PC- dainik bhaskar

PC- dainik bhaskar

इसके बाद दरबार साहिब में मत्था टेका। उन्हें आशीर्वाद के तौर पर सरोपा दिया गया। मोदी इसके बाद लंगर पहुंचे और श्रद्धालुओं को खाना परोसा। स्वर्ण मंदिर परिसर में लोगों ने मोबाइल फोन से तस्वीरें उतारीं।

हॉर्ट ऑफ एशिया सम्मेलन के तहत एशिया में आतंकवाद के खतरे से निपटने, रीजन की जटिल सुरक्षा और युद्ध से तबाह अफगानिस्तान के हालात में सुधार जैसे मुद्दों पर चर्चा होगी। इसके तहत रविवार को नरेंद्र मोदी और अफगानिस्तान के प्रेसिडेंट अशरफ गनी कॉन्फ्रेंस का इनॉगरेशन करेंगे, जिसमें पाकिस्तान के पीएम के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज भी हिस्सा लेंगे।

कॉन्फ्रेंस शुरू होने से पहले भारत और अफगानिस्तान ने पाकिस्तान स्पॉन्सर्ड आतंकवाद को एशिया में शांति और स्थिरता के लिए बड़ा खतरा बताया। दोनों देशों के बीच एक काउंटर टेरर फ्रेमवर्क बनाने पर जोर देने पर सहमति बनी।