नई दिल्ली : कोरोना वायरस को हराने के लिए केंद्र सरकार लगातार प्रयास में जुटी हुई है. सरकार इसके इलाज के लिए हर संभव प्रयास कर रही है, ताकि जल्द से जल्द देश को इस महामारी से मुक्ति दिलाई जा सके. इस बीच आयुष मंत्री श्रीपद नाइक ने दावा किया है कि आयुर्वेद से कोरोनावायरस का इलाज संभव है. श्रीपद नाइक ने जानकारी देते हुए बताया है कि पीएम मोदी ने इसके लिए टास्क फोर्स का भी गठन किया है, ताकि जल्द से जल्द इस महामारी से छुटकारा मिल सके. Also Read - 84 दिन बाद भारत में 50,000 से कम नए मामले आए, ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं: स्वास्थ्य मंत्रालय

श्रीपद नाइक ने जानकारी देते हुए कहा कि, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने आर्युवेद से कोरोना वायरस के इलाज के लिए टास्क फोर्स का गठन किया है. जिसके बाद अब आयुर्वेद के जरिए कोरोना पॉजिटिव मरीजों का इलाज करने की दिशा में काम शुरू कर दिया गया है. आयुर्वेद से कोरोना वायरस के इलाज के लिए टास्क फोर्स का गठन किया गया है. Also Read - PM Narendra Modi Address to Nation Full Speech: कोरोना और नवरात्रि, ईद, छठ से लेकर कबीर के दोहा तक, पढ़ें पीएम मोदी के संबोधन की 10 बड़ी बातें

उन्होंने आगे कहा कि, भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) आयुर्वेद और पारंपरिक दवाइयों के जरिए कोरोना वायरस पर काबू पाने की दिशा में रिसर्च कर रहे हैं. टास्क फोर्स इनके साथ मिलकर रिसर्च को तेजी से आगे बढ़ाने की दिशा में काम कर रहे हैं. केंद्रीय मंत्री ने बताया कि, इसके लिए अभी तक 2000 प्रस्ताव मिले हैं. इनमें से कई सुझावों की वैज्ञानिक वैधता चेक की जा रही है. वैधता चेक करने के बाद इसे ICMR और अन्य रिसर्च सेंटर भेज दिया जाएगा. Also Read - WAR के गाने पर डॉक्टर ने पीपीई किट पहने किया जबरदस्त डांस, ऋतिक बोले- ये स्टेप्स तो...

आपको बता दें कि स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry of India) की तरफ से रविवार को जारी आंकड़े के मुताबिक, बीते 24 घंटों में देश में कोरोना वायरस के 909 मरीज सामने आए. जिसके बाद भारत में कोरोना पॉजिटिव मरीजों (Coronavirus positive patients) की संख्या 8,356 पहुंच गई है. वहीं बीते 24 घंटों में कोरोना से 34 लोगों की जान गई, जिसके बाद मरने वालों की संख्या 273 पहुंच गई है. हालांकि, राहत वाली बात यह है कि देश 8,356 में से 716 मरीज इस महामारी से बाहर आ चुके हैं.