अमरावती: आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला बोला है. गौरतलब है कि केंद्र के खिलाफ शुक्रवार रात तेलुगू देशम पार्टी की ओर से लाया गया अविश्वास प्रस्ताव गिर गया जिसके बाद आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना करते हुए उन पर सत्ता का अहंकार दिखाने का आरोप लगाया. वहीँ अविश्वास प्रस्ताव गिरने के बाद पीएम मोदी ने भी विपक्ष पर तंज कसते हुए कहा था कि, वो ईश्वर से प्रार्थना करेंगे कि वो 24 में भी विपक्ष को उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की हिम्मत दे.

प्रधानमंत्री ने वादे के साथ इंसाफ नहीं किया
लोकसभा में शुक्रवार रात तेलुगू देशम पार्टी की ओर से लाए गए अविश्वास प्रस्ताव गिरने के बाद आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना करते हुए उन पर सत्ता का अहंकार दिखाने और ओछी बात करने का आरोप लगाया. सचिवालय में प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए नायडू ने कहा कि प्रधानमंत्री ने आंध्रप्रदेश के साथ किए गए वादे के साथ इंसाफ नहीं किया. राज्य को 2014 में विभाजन के बाद बहुत नुकसान का सामना करना पड़ा है. मुख्यमंत्री ने कहा, आंध्रप्रदेश के पांच करोड़ लोगों को उम्मीद थी कि (केंद्र सरकार को) पछतावा होगा और भूल सुधार की जाएगी.

कांग्रेस की वजह से तेलंगाना में विवाद बढ़ा: पीएम मोदी
यहां बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी ने आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिलाने की मांग पर संसद में बयान देते हुए कहा था कि, कांग्रेस के शासन में आंध्र प्रदेश का विभाजन गलत तरीके से किया गया है. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा था कि, कांग्रेस की वजह से तेलंगाना में विवाद बढ़ा है. हालांकि उन्होंने कहा कि, एनडीए सरकार आंध्र प्रदेश के लोगों की आशाओं और आकांक्षाओं का सम्मान करती है.

उन्होंने कहा, लेकिन साथ ही हमें ये भी ध्यान रखना होगी कि सरकार 14वें वित्त आयोग के सुझावों से बंधी हुई है, इसलिए आंध्र प्रदेश को एक ऐसा पैकेज दिया गया जिसमें उसे उतनी ही सुविधाएं मिलती जितने की स्पेशल स्टेट्स में मिलती हैं. वहीँ  मुख्यमंत्री चंद्रबाबू ने पीएम पर आरोप लगाया कि, प्रधानमंत्री अहंकारी हैं. उन्होंने सत्ता का अहंकार दिखाया है. वह इस तरह बोले कि हमारे राज्य का उपहास उड़ाया गया. वह ओछी बातें कर रहे हैं.