नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुझाव दिया था कि दिल्ली के मैडम तुसाद म्यूजियम में गांधी जी के मोम के पुतले को हाथ में एक झाड़ू पकड़े अपने आसपास की सफाई करते हुए दिखाया जाना चाहिए था. प्रधानमंत्री ने मैडम तुसाद के अधिकारियों को दिए एक साक्षात्कार में उनसे कहा था कि यह समूचे भारत में सफाई के संदेश के साथ सवा सौ करोड़ देशवासियों को प्रेरित करेगा, जो स्वच्छ भारत अभियान में निहित है. साथ ही, यह कुछ ऐसी चीज भी है जिसकी शिक्षा हमें राष्ट्रपिता का जीवन देता है.

साक्षात्कार एक वीडियो के रूप में है और इसे म्यूजियम ने स्वतंत्रता दिवस से पहले साझा किया है. यह साक्षात्कार किस तारीख का है, इसकी जानकारी नहीं दी गई है. दरअसल, मोदी को यह बताया गया था कि संग्रहालय में उनका पहला मोम का पुतला लगाया जाएगा. संग्रहालय पिछले साल दिसंबर में लोगों के लिए खोला गया था.

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘आपने कहा कि आप संग्रहालय में मेरी पहली प्रतिकृति लगाना चाहते हैं. इसके बजाय, मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि पहले महात्मा गांधी का पुतला लगाया जाए और उन्हें अपने आसपास की सफाई करते हुए दिखाया जाए.’’ उन्होंने अधिकारियों से कहा, ‘‘मैं एक तस्वीर भेजूंगा, जिसमें गांधी अपने हाथ में एक झाड़ू लिए दिख रहे हैं.’’

गौरतलब है कि संग्रहालय के इतिहास खंड में मोदी का मोम का पुतला गांधी जी के पुतले के साथ है. वहां भगत सिंह, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, सरदार वल्लभभाई पटेल और एपीजे अब्दुल कलाम सहित अन्य राष्ट्रीय नेताओं के भी पुतले हैं. प्रधानमंत्री दुनिया भर के प्रख्यात लोगों के बगल में अपना मोम का पुतला लगाए जाने पर शुरूआत में थोड़ा सा हिचकिचाए थे, लेकिन जब उन्हें पता चला कि यह फैसला ‘पब्लिक ओपीनियन’ का नतीजा है तब वह राजी हो गए.

उन्होंने कहा था कि उनका मोम का पुतला लगाए जाने से उनकी शख्सियत कुछ नरम दिख सकेगी, जो अब तक सख्त दिखाई गई है. प्रधानमंत्री के मुताबिक मोम के पुतलों से सजा संग्रहालय दिल्ली में खोला जाना देश में पर्यटन को बढ़ावा देने की दिशा में एक कदम है और यह युवा कलाकारों को अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए प्रेरित करेगा.

उन्होंने कहा, ‘‘भारत में एक संग्रहालय खोलने के आपके फैसले का स्वागत है.’’ यह संग्रहालय ऐतिहासिक रीगल बिल्डिंग में है जहां अभिनेता अमिताभ बच्चन, टॉम क्रूज, सलमान खान, क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर, विराट कोहली और मुक्केबाज मैरी कॉम जैसे 50 लोगों के मोम के पुतले हैं.

(इनपुट: एजेंसी)