नई दिल्लीः आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के हमले के बाद देश को तीसरी बार संबोधित किया. अपने संबोधन में पीएम मोदी ने लॉकडाउन (Lockdown) को लेकर एक बहुत बड़ा फैसला लिया. प्रधानमंत्री मोदी ने देश में लॉकडाउन को तीन मई तक बढ़ा दिया है और इस बात के भी निर्देश दिए हैं कि पहले से ज्यादा कड़ाई के साथ इसका पालन कराया जाएगा. उन्होंने देश की जनता से अपील की है कि वह कोरोना से जारी लड़ाई में भारत सरकार द्वारा जारी आरोग्य सेतु ऐप का भी इस्तेमाल करें.Also Read - Mann Ki Baat on Music Apps: अब अमेज़न म्यूजिक, विंक, हंगामा पर भी सुनें PM मोदी की Mann Ki Baat, ये है मकसद

पीएम मोदी ने कहा कि मेरी सभी देशवासियों से विनती है कि वे अपने मोबाइल पर आरोग्य सेतु ऐप को डाउनलोड करें और साथ ही अपने परिजनों और दूसरों से भी यह ऐप डाउनलोड करने के लिए कहें. ताकि, देश को जल्द से जल्द इस महामारी से छुटकारा मिल सके. बता दें आरोग्य सेतु ऐप भारत सरकार का ऐसा ऐप है, जो लोगों को कोरोना वायरस के खतरे और जोखिम से वाकिफ कराता है. Also Read - Omicron Latest Update: कर्नाटक में संक्रमित पाए गए दो दक्षिण अफ्रीकी नागरिक, जांच के लिए भेजे गए सैंपल

यह ऐप एंड्रॉयड और आईफोन दोनों तरह के स्मार्टफोन्स में डाउनलोड किया जा सकता है. भारत सरकार द्वारा इस ऐप को देशवासियों को कोरोना के खतरे से अवगत कराने के लिए डेवेलप किया गया है. जो भी व्यक्ति इस ऐप को डाउनलोड करता है, उसे घर बैठे ही अपने आसपास कोरोना पॉजिटिव मरीजों के बारे में पता चल जाता है और साथ ही यह भी पता चल जाता है कि क्या उस व्यक्ति को इससे कोई खतरा है या नहीं. Also Read - नए कोरोना वैरिएंट ‘Omicron’ के डर से दुनिया भर के देशों ने लगाईं यात्रा पाबंदियां, जानिए कहां-कहां लागू हुए प्रतिबंध

ऐसे करें आरोग्य सेतु ऐप का इस्तेमाल
आरोग्य सेतु ऐप के इस्तेमाल के लिए सबसे पहले इसे डाउनलोड करें. ऐप के डाउनलोड हो जाने पर अपनी भाषा चुनें और ऐप खोलें. इसके बाद आरोग्य सेतु को ब्लूटूथ और जीपीएस डेटा के जरिए काम करने की अनुमति दें. ट्रेसिंग के लिए मोबाइल नंबर, ब्लूटूथ और लोकेशन ट्रेस करने की अनुमति दें. यह ऐप आपकी लोकेशन ट्रेस कर यह बताता है कि आप कोरोना के जोखिम में हैं या नहीं.

इसके बाद ऐप में अपना मोबाइल नंबर रजिस्टर करें. मोबाइल नंबर रजिस्टर करने पर ओटीपी आएगा. OTP से वेरिफाई करें. इसके बाद एक ऑप्शनल फॉर्म आएगा, जिसमें आपका नाम, उम्र और 30 दिनों के अंदर विदेश यात्रा जैसे सवाल पूछे जाएंगे. इसे भरने के बाद ऐप हरे और पीले रंग से बता देगा कि आप खतरे में हैं या नहीं. जिसमें हरे रंग का मतलब सुरक्षित है और पीला रंग जोखिम को दर्शाता है.