नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अविश्वास प्रस्ताव पर जवाब देते हुए कांग्रेस और विपक्ष पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने राहुल गांधी के शिवभक्त होने के जवाब में कहा कि मैं भी शिव को मानता हूं. मैं चाहता हूं कि आपको एक बार फिर अविश्वास प्रस्ताव का मौका मिले और साल 2024 में मिले. मेरी शुभकामनाएं हैं आपके साथ. Also Read - छत्तीसगढ़ में नर्स से घर खाली कराने के आरोप में कांग्रेस नेता के खिलाफ मामला दर्ज

पीएम ने कहा, कांग्रेस को खुद पर विश्वास नहीं है. ये लोग खुद अविश्वास से घिरे हुए हैं. इन्हें स्वच्छ भारत अभियान पर विश्वास नहीं है. इन्हें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस, मुख्य न्यायाधीश तक पर विश्वास नहीं है. इन लोगों को आरबीआई के आंकड़ों पर विश्वास नहीं है और इन लोगों को अर्थव्यवस्था पर आ रहे आंकड़ों पर विश्वास नहीं है. पीएम ने बेनाम संपत्ति पर भी बात रखी और कहा कि सरकार इस पर भी कड़ी कार्रवाई कर रही है. Also Read - कोरोना वायरस से मुकाबला के लिये पीएम मोदी ने की आपात राहत कोष की घोषणा, अक्षय कुमार ने दिए 25 करोड़

प्रधानमंत्री रॉफेल डील पर राहुल गांधी के दिए बयान पर भी जवाब दिया. उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर भी सत्य को रौंदा जा रहा है. बार-बार चीख-चीख कर देश को गुमराह किया जा रहा है. ये देश ऐसे लोगों को कभी माफ नहीं करेगा. मैं पूरे विश्वास के साथ कहता हूं कि इसपर पूरी पारदर्शिता बरती गई है. लेकिन इस मुद्दे पर ऐसा बयान दिया गया कि भारत और फ्रांस दोनों देशों को इस पर बयान देना पड़ा. ये कब सुधरेंगे. Also Read - राहुल गांधी ने कहा- गरीबों के पैदल पलायन के लिए सरकार जिम्मेदार, नागरिकों की ये हालत करना अपराध

डोकलाम पर पीएम ने राहुल गांधी को घेरते हुए कहा कि जब डोकलाम पर सभी चिंतित थे तो ये चीन के राजदूत से मिल रहे थे. इतना ही नहीं मिलने के बाद कभी हां कभी ना खेल रहे थे. उन्होंने कहा कि यहां सर्जिकल स्ट्राइक को जुमला बता सेना का अपमान किया गया.