लखनऊ: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi) ने सोमवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) से अपने बयान का आधार बताने को कहा जिसमें उन्होंने कथित तौर पर दावा किया था कि बड़ी संख्या में दूसरे राज्यों से आ रहे कामगार कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित हैं. कांग्रेस नेता ने अपने ट्विटर हैंडल से मुख्यमंत्री के बयान का वीडियो क्लिप भी साझा किया है. Also Read - राजस्थान की सियासत में अब ''रिसार्ट पॉलिटिक्स" की हुई शुरुआत, अपने ही नेता से विधायकों को बचाने के लिए भेजा गया होटल

प्रियंका गांधी वाड्रा द्वारा अपलोड वीडियो क्लिप में योगी आदित्यनाथ यह कहते हुए सुनाई दे रहे हैं कि मुंबई से लौट रहे प्रवासी कामगार (Migrant Workers) कोरोना वायरस से संक्रमित हैं. कांग्रेस महासचिव (Congress General Secretary) ने कहा, ‘‘ उप्र के मुख्यमंत्रीजी का ये बयान सुना. सरकार के आंकड़ों के अनुसार लगभग 25 लाख लोग यूपी वापस आ चुके हैं. मुख्यमंत्री जी के बयान के आधार पर इनमें से महाराष्ट्र से लौटे हुए 75 प्रतिशत, दिल्ली से लौटे हुए 50 प्रतिशत और अन्य प्रदेशों से लौटे 25 प्रतिशत लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हैं.’’ Also Read - Rajasthan Political Drama: पायलट को मनाने के लिए आगे आईं प्रियंका गांधी, पायलट ने रखी ये चार शर्तें

वीडियो में योगी आदित्यनाथ कह रहे हैं, ‘‘यह हमारे लिए चुनौती है और हमारी टीम मजबूती से इसका मुकाबला कर रही है. पूरे राज्य में 75 हजार स्वाथ्य टीम काम कर रही है. जांच, परीक्षण और इलाज की वजह से हम काफी हद तक कोविड-19 को नियंत्रित करने में कामयाब हुए हैं.’’ Also Read - जो राहुल और प्रियंका गांधी के आक्रामक रुख की सराहना नहीं कर सकते वे कांग्रेस पार्टी में क्यों हैं : दिग्विजय सिंह

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमला करते हुए कांग्रेस महासचिव ने ट्वीट किया, ‘‘ क्या मुख्यमंत्री जी का मतलब है कि उत्तरप्रदेश में 10 लाख से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हैं? मगर उनकी सरकार के आंकड़े तो संक्रमण की संख्या 6228 बता रहे हैं. उनके द्वारा बताए गए संक्रमण के आंकड़े का आधार क्या है? लौटे हुए प्रवासियों में संक्रमण का ये प्रतिशत आया कहां से.’’

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘और यदि ऐसा है तो इतने कम जांच क्यों हो रहे हैं? या ये आंकड़े उप्र सरकार के अन्य आंकड़ों की तरह ही अप्रमाणित और गैर ज़िम्मेदार हैं ?’’ प्रियंका ने सीधा सवाल करते हुए ट्वीट किया, ‘‘अगर मुख्यमंत्री जी के बयान में सच्चाई है तो सरकार पूरी पारदर्शिता के साथ जांच संक्रमण के डेटा और अन्य तैयारियों को जनता से साझा करे.’’