नई दिल्ली. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मंगलवार को पहली बार कांग्रेस के मंच से जनसभा को संबोधित किया. गुजरात के गांधी नगर में जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि इस चुनाव में फिजूल के मुद्दे नहीं उठने चाहिए. किसान, छात्र और युवा इस चुनाव में मुद्दा बनने चाहिए. उन्होंने कहा कि मैं आग्रह करना चाहती हूं कि सोच समझकर निर्णय लें. बड़ी-बड़ी बातें करने वालों से पूछिए कि 2 करोड़ रोजगार देने का वादा किया था, वह कहां गया. 15 लाख खाते में आने वाले थे वे कहां गए. महिलाओं के सुरक्षा का मुद्दा क्यों गायब हो गए.

प्रियंका ने कहा कि आपकी देशभक्ति इसमें प्रकट होना चाहिए कि आप कैसे मुद्दे को आने वाले दो महीने में उठा रहे हैं. प्रियंका ने कहा कि यहीं से गांधी ने आवाज उठाई थी और मैं भी ये सोचती हूं कि यहीं से आपको एक बार फिर शुरू करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि हमारी संस्थाएं नष्ट होती जा रही हैं. उन्होंने कहा कि जागरूकता से बड़ी कोई देशभक्ति नहीं है. देश की हिफाजत जनता कर सकती है और कोई नहीं.

प्रियंका ने कहा कि देश में हर जगह नफरत का माहौल है. देश के विकास के लिए हमें साथ-साथ आगे बढ़ना चाहिए. देश में अभी बड़े बड़े वादे किए जा रहे हैं, लेकिन वे झूठे हैं. चुनाव ऐसा हथियार है जो जनता को मजबूत बनाता है. ऐसे समय में हमें उस हथियार का प्रयोग करना चाहिए. उन्होंने कहा कि देश को प्यार, भाईचारे और सौहार्द के साथ बनाया गया है. लेकिन जो अभी देश में हो रहा है वह बड़ा ही कष्टप्रद है.