नई दिल्ली: जामिया मिल्लिया इस्लामिया में दिल्ली पुलिस की कार्रवाई के खिलाफ केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी इंडिया गेट पर धरना दे रही हैं. उनके साथ कई कांग्रेस नेता भी शामिल हैं. ये धरना प्रदर्शन छात्रों के साथ एकजुटता प्रकट करने के लिए दिया जा रहा है. जामिया मिल्लिया इस्लामिया (दिल्ली) और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में छात्रों के विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस कार्रवाई को लेकर प्रियंका गांधी वाड्रा और अन्य कांग्रेस नेताओं ने सांकेतिक विरोध के लिए इंडिया गेट पर धरने पर बैठे हैं.


इससे पहले कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि यह एक सरकार है जिसने देश के युवाओं और छात्रों के अधिकारों पर हमला किया है. उन्होंने कहा कि इसीलिए, प्रियंका गांधी वाड्रा और अन्य वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं ने इंडिया गेट पर शाम 4 बजे से अगले 2 घंटों के लिए एक सांकेतिक विरोध प्रदर्शन करने का फैसला किया है.

वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने जामिया मिल्लिया इस्लामिया में दिल्ली पुलिस की कार्रवाई के खिलाफ केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए सोमवार को कहा कि देश का माहौल ‘खराब’ हो गया है. वाड्रा ने कहा, ‘‘देश का वातावरण खराब है. पुलिस विश्वविद्यालय में घुस कर (छात्रों को) पीट रही है. सरकार संविधान से छेड़छाड़ कर रही है. हम संविधान के लिए लड़ेंगे.’’ कांग्रेस नेता का यह बयान देश के अलग-अलग हिस्सों में संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ चल रहे प्रदर्शनों के बीच आया है.

बता दें कि जामिया मिलिया इस्लामिया (दिल्ली) और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में छात्रों के विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस कार्रवाई को लेकर इंडिया गेट के पास प्रियंका गांधी वाड्रा के अलावा केसी वेणुगोपाल, एके एंटनी, पीएल पुनिया, अहमद पटेल और अन्य कांग्रेस नेता प्रतीकात्मक विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं.