नई दिल्ली. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की बहन और यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी की बेटी प्रियंका गांधी ने सक्रिय राजनीति में कदम रख दिया है. बुधवार को उन्हें अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी में महासचिव बनाया गया है. इसके साथ ही उन्हें पूर्वी उत्तर प्रेदश का प्रभार मिला है. वहीं, दूसरी तरफ ज्योतिरादित्य सिंधिया को भी पार्टी महासचिव बनाते हुए पश्चिमी उत्तर प्रदेश की बागडौर सौंपी गई है.

प्रियंका गांधी दिल्ली के मॉडर्न स्कूल से पढ़ीं हैं. उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी से साइकोलॉजी में डिग्री हासिल की है. 13 साल की उम्र में उनकी रॉबर्ट वाड्रा से दोस्ती हुई और यह दोस्ती धीरे-धीरे प्यार में तब्दील हो गई. बाद में दोनों में शादी कर ली. प्रियंका में इंदिरा गांधी की छवि देखी जाती है.

कांग्रेस महासचिव बनने से पहले प्रियंका परोक्ष रूप से राजनीति में थीं. वह अपनी मां के संसदीय क्षेत्र रायबरेली और भाई राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी में चुनाव प्रचार भी कर चुकी हैं. वह समय-समय पर अहम राजनीतिक मसले पर भाई और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को सलाह देती रही हैं.