नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को कहा कि अगर कोरोना वायरस महामारी के प्रकोप के दौरान प्रदर्शनकारी किसान किसी सभा के लिए नगर में आते हैं तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी. केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान ‘दिल्ली चलो’ मार्च के तहत 26 नवंबर को पांच राजमार्गों के रास्ते राष्ट्रीय राजधानी पहुंचेंगे.Also Read - एक्सीडेंटल गाड़ियों के नंबर को चोरी की कार पर लगाकर बेचते थे, पुलिस ने पकड़ा जब गिरोह तो हुए चौंकाने वाले और भी खुलासे

पुलिस ने ट्विटर पर कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में इस तरह की किसी भी सभा के लिए कोई अनुमति नहीं दी गयी है. Also Read - Delhi Police Jobs: दिल्ली पुलिस ने हेड कॉन्स्टेबल के 800 से अधिक पदों पर निकाली भर्ती, मिलेगी मोटी सैलरी

दिल्ली पुलिस ने अपने आधिकारिक हैंडल से ट्वीट किया कि उत्तर प्रदेश, हरियाणा, उत्तराखंड, राजस्थान, केरल और पंजाब के किसान संगठनों ने 26 और 27 नवंबर को ‘दिल्ली मार्च’ का आह्वान किया है. कोरोना वायरस के प्रकोप के दौरान किसी भी सभा की अनुमति नहीं है. अनुमति नहीं दी गयी है और आयोजकों को काफी पहले ही इस बारे में सूचित कर दिया गया था. Also Read - इस वीकएंड घूमिये दिल्ली की ये मार्केट और करिये जमकर शॉपिंग, यहां सस्ते मिलते हैं कपड़े

पुलिस ने कहा कि अगर इसके बाद भी प्रदर्शनकारी दिल्ली में आते हैं, तो कानूनी कार्रवाई की जाएगी. विभिन्न किसान संगठनों की मांग है कि नए कृषि कानूनों को निरस्त किया जाए.

(इनपुट भाषा)