नई दिल्ली: देश की राजधानी में शुक्रवार को एक बार फिर नागारिक संशोधित एक्‍ट (सीएए) और एनआरसी के खिलाफ कई लोग जामा मस्जिद के बाहर इकट्ठे हुए. इसमें कांग्रेस के नेता भी शामिल हैं. वहीं, शुक्रवार की नमाज और कुछ संगठनों द्वारा संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शनों का आह्वान करने के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी के उत्तरपूर्वी जिले के कुछ क्षेत्रों में पुलिस ने फ्लैग मार्च किया. कुछ स्थानों पर भारी पुलिस बल भी तैनात किया गया है.

पुलिस ने बताया कि उत्तरपूर्वी दिल्ली के सीलमपुर, जाफराबाद, वेलकम और मुस्तफाबाद इलाकों में फ्लैग मार्च किया गया. दरअसल, प्रदर्शनकारियों की शुक्रवार की नमाज के बाद जामा मस्जिद के बाहर भी प्रदर्शन की योजना है.

संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन करने के लिए शुक्रवार को पुरानी दिल्ली में जामा मस्जिद के बाहर ढेर सारे लोग जमा हुए. कांग्रेस नेता अलका लांबा और दिल्ली के पूर्व विधायक शोएब इकबाल भी इन प्रदर्शनों में शामिल हुए.

लांबा ने भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, बेरोजगारी देश के सामने असल मुद्दा है, लेकिन आप (प्रधानमंत्री) एनआरसी के लिए लोगों को उसी तरह कतार में लगाना चाहते हैं जैसा नोटबंदी के दौरान किया था.’’

पैरामिलिट्री की 15 कंपनियां तैनात, ड्रोन से नजर
उत्तरपूर्वी दिल्ली में कानून व्यवस्था को कायम करने के लिए नजदीकी जिलों से बुलाए गए पुलिस बल और अर्द्धसैनिक बलों की 15 कंपनियों को तैनात किया गया है. हालात पर नजर रखने के लिए दिल्ली पुलिस ड्रोन की मदद भी ले रही है.

– जामिया नगर, जामा मस्जिद और चाणक्यपुरी में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है
– हिंसक प्रदर्शन के बाद से दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 लगी हुई है.
– दिल्ली पुलिस ने हिंसा प्रभावित इलाकों में बैनर लगाए हैं
– पुलिस ने लोगों से कहा है कि निषेधाज्ञा लगी होने के कारण वह यूपी भवन के बाहर प्रदर्शन न करें
– कुछ स्थानों पर भारी पुलिस बल भी तैनात किया गया है

पीएम के आवास तक प्रदर्शन करने की तैयारी
एक समूह ने जोर बाग के निकट दरगाह शाह मर्दान के निकट से प्रधानमंत्री के आवास तक प्रदर्शन मार्च निकालने का आह्वान किया है. उनकी मांग है कि भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद को बिना शर्त रिहा किया जाए और सीएए, एनआरसी तथा एनपीआर को वापस लिया जाए.

शांति बनाए रखने लोगों से अपील की जा रही है
पुलिस उपायुक्त (उत्तरपूर्व) वेद प्रकाश सूर्य ने कहा, ”इलाके में कानून-व्यवस्था बनी रहे, यह सुनिश्चित करने के लिए हम अमन समिति के सदस्यों के साथ उत्तरपूर्वी दिल्ली में फ्लैग मार्च कर रहे हैं. शांति बनाए रखने में पुलिस की मदद करने की अपील भी लोगों से की जा रही है.