लिलुआ: पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ को शनिवार शाम हावड़ा जिले के लिलुआ स्थित एक कॉलेज में तृणमूल कांग्रेस के कथित सदस्यों ने काले झंडे दिखाए. राज्यपाल उक्त कॉलेज में एक कार्यक्रम में शिरकत करने आए थे.Also Read - बंगाल: चुनाव बाद हिंसा मारे गए लोगों से मिलने पहुंचे राज्यपाल जगदीप धनखड़, लोगों ने दिखाए काले झंडे

प्रदर्शनकारी हाथों में तख्तियां लिए हुए थे, जिनपर लिखा था,‘राज्यपाल शर्म करो’. जब उनके काफिले ने कॉलेज में प्रवेश किया तो उन्होंने धनखड़ को ये तख्तियां और काले झंडे दिखाए. वे नारे लगा रहे थे कि लंबित विधेयकों को मंजूरी देने में देरी के लिए राज्यपाल जिम्मेदार हैं, जिसके चलते इस हफ्ते राज्य विधानसभा को दो दिन के लिए स्थगित करना पड़ा. Also Read - WB Budget Session 2021: ममता सरकार-राज्यपाल में फिर टकराव, बिना अभिभाषण के ही पेश होगा राज्य का बजट

Also Read - प्रियंका वाराणसी पहुंची, CAA और NRC के विरोध में प्रदर्शन करने वालों से बातचीत करेंगी

जब तृणमूल कांग्रेस के हावड़ा अध्यक्ष अरूप रॉय से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि मुझे घटना के बारे में कोई जानकारी नहीं है. मैं इसे देखूंगा. लेकिन अगर स्थानीय लोग किसी के प्रति अपने गुस्से को जाहिर करते हैं तो हम क्या कर सकते हैं.

हावड़ा के जिलाधिकारी (डीएम) मुक्ता आर्य ने कहा कि पुलिस मामले को देख रही है. हावड़ा शहर पुलिस आयुक्त गौरव शर्मा से बात करने के लिए उन्हें कई कॉल की गई लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया. राज्यपाल का ममता बनर्जी नीत सरकार के साथ कई मुद्दों पर टकराव चल रहा है.