कोलकाता/ गुवाहाटी/ शिलांग: संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ पश्चिम बंगाल में आज मंगलवार को पांचवे दिन भी प्रदर्शन जारी रहा और प्रदर्शनकारियों ने राज्य के कई हिस्सों में सड़क और रेल की पटरियां जाम कर दीं. इस बीच पड़ोसी राज्य असम के गुवाहाटी में लगा कर्फ्यू मंगलवार को हटा लिया गया. अधिकारियों ने बताया कि शहर में दुकानें और व्यावसायिक प्रतिष्ठान खुले हैं. बस, कार और दोपहिया वाहन सड़कों पर नजर आ रहे हैं.

कानून एवं व्यवस्था की समीक्षा के लिए मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल द्वारा सोमवार को बुलाई गई एक बैठक में गुवाहाटी से कर्फ्यू हटाने का निर्णय लिया गया. आधिकारिक बयान के अनुसार, ” गुवाहाटी में कल (मंगलवार को) सुबह छह बजे से पूरी तरह कर्फ्यू हटाने का निर्णय लिया गया है.”

– असम और पश्चिम बंगाल में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बहाल करने के बारे में कोई जिक्र नहीं है
– डिब्रूगढ़ में मंगलवार को सुबह छह बजे से 14 घंटे तक कर्फ्यू में ढील दी जाएगी
– उत्तर 24 परगना के बसीरहाट में प्रदर्शनकारियों ने संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ नारेबाजी की
– पुलिस ने राज्यभर में सुरक्षा कड़ी कर दी है और हिंसा के लिए अभी तक करीब 354 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया गया है.

– मालदा, उत्तर दिनाजपुर, मुर्शिदाबाद, हावड़ा और उत्तर और दक्षिण 24 परगना के कुछ हिस्सों में आज लगातार तीसरे दिन इंटरनेट सेवाएं अब भी निलंबित हैं
– इंटरनेट सर्विसेस निलंबित हैं ताकि सोशल मीडिया पर फर्जी खबरों को प्रसारित होने से रोका जा सके
– शिलॉन्ग में मंगलवार को कर्फ्यू में 13 घंटे की ढील दी गई

– पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आज भी संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ दक्षिण कोलकाता के भवानीपुर में यादवपुर 8बी बस स्टैंड से एक रैली निकाली
– भाजपा भी कानून के समर्थन में राज्य में रैलियां निकालेगी
– ममता ने कहा, जब तक मैं जिंदा हूं, मैं एनआरसी अथवा नागरिकता कानून कभी (पश्चिम बंगाल में) लागू नहीं करूंगी
– पश्चिम बंगाल में मोबाइल संदेश सेवाओं पर अब भी रोक है
– पश्चिम बंगाल में सोमवार से यहां किसी अप्रिय घटना की कोई खबर नहीं है