Proud moment! संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् में सोमवार को भारतीय झंडा लगाया जाएगा. देश संयुक्त राष्ट्र के इस शक्तिशाली निकाय में दो वर्षों के लिए अस्थायी सदस्य के तौर पर अपना कार्यकाल शुरू कर रहा है. पांच नये अस्थायी सदस्य देशों के झंडे चार जनवरी को एक विशेष समारोह के दौरान लगाए जाएंगे. 2021 में चार जनवरी आधिकारिक रूप से पहला कार्य दिवस होगा.Also Read - BCCI ने किया महिला T20 चैलेंज टीमों का ऐलान; स्मृति मंधाना, हरमनप्रीत कौर और दीप्ति शर्मा होंगी कप्तान

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टी. एस. तिरूमूर्ति तिरंगा लगाएंगे और उम्मीद है कि समारोह में वह संक्षिप्त संबोधन भी देंगे. Also Read - पाकिस्तान में 2 सिख व्यापारियों की हत्या, भगवंत मान ने कहा- पाक सरकार जिम्मेदारी निभाए, ये घटना कायरतापूर्ण

भारत के साथ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् में नॉर्वे, केन्या, आयरलैंड और मैक्सिको अस्थायी सदस्य बने हैं. वे अस्थायी सदस्यों इस्टोनिया, नाइजर, सेंट विंसेंट और ग्रेनाडा, ट्यूनिशिया, वियतनाम तथा पांच स्थायी सदस्यों चीन, फ्रांस, रूस, ब्रिटेन और अमेरिका के साथ इस परिषद् का हिस्सा होंगे. Also Read - भारत ने पाकिस्तान से दो सिख व्यापारियों की हत्या पर प्रतिक्रिया दी, कहा- दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो

भारत अगस्त 2021 में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् का अध्यक्ष होगा और फिर 2022 में एक महीने के लिए परिषद् की अध्यक्षता करेगा. परिषद् का अध्यक्ष हर सदस्य एक महीने के लिए बनता है, जो देशों के अंग्रेजी वर्णमाला के नाम के अनुसार तय किया जाता है. झंडा लगाने की परंपरा की शुरुआत कजाकिस्तान ने 2018 में शुरू की थी.

(इनपुट भाषा)