पुडुचेरीः पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी.नारायणसामी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के रोजगार सृजन संबंधी बयान के विरोध में बुधवार को एक व्यस्त यातायात जंक्शन पर पकौड़े बनाए. मोदी का हालिया बयान पकौड़ा बेचने और रोजगार सृजन से संबंधित था. इस बयान के खिलाफ यूथ कांग्रेस ने यहां विरोध प्रदर्शन आयोजित किया था जिसमें नारायणसामी ने भी हिस्सा लिया. Also Read - हिमाचल में कोविड-19 के कारण लग सकता है प्रतिबंध, मुख्यमंत्री ने दी चेतावनी

पुडुचेरी पीसीसी अध्यक्ष ए नमशिवायम ने पकौड़े बनाने में मुख्यमंत्री की मदद की. प्रदर्शनकारियों ने मोदी पकौड़ा और अरुण जेटली पकौड़ा नाम से स्नैक्स को तला और वहां से गुजर रहे लोगों  को वितरित किया.इस मौके पर मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री शिक्षित बेरोजगार युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने में विफल रहे है. उन्होंने वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान  युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने का वादा किया था.

गौरतलब है कि अमित शाह ने राज्यसभा में अपने पहले भाषण में पकौड़ा रोजगार का जिक्र किया था. उन्होंने कहा था कि कि कांग्रेस नेता चिदंबरम पकौड़ा बेचने वालों की तुलना भिखारियों से  कर रहे थे, लेकिन वह बताना चाहेंगे कि पकौड़ा बेचना शर्म की बात नहीं है. अमित शाह ने कहा था कि अभी मैं चिदंबरम साब का ट्वीट पढ़ रहा था कि मुद्रा बैंक के साथ किसी ने पकौड़े का  ठेला लगा लिया, इसको रोजगार कहते हैं? हां मैं मानता हूं कि भीख मांगने से अच्छा है कि कोई मजदूरी कर रहा है, उसकी दूसरी पीढ़ी आगे आएगी तो उद्योगपति बनेगी. अमित शाह ने कहा  कि चाय वाले का बेटा आज प्रधानमंत्री बनकर इस सदन में बैठा है.