पुडुचेरी: पुडुचेरी की उपराज्यपाल (एलजी) किरण बेदी ने मुख्यमंत्री वी नारायणसामी द्वारा उन्हें लिखे गए पत्र को ‘बेहद अशिष्ट’ बताया है. इस पत्र में मुख्यमंत्री ने उपराज्यपाल पर आरोप लगाया था कि वह आधिकारिक जानकारियों का ‘खुलासा’ सोशल मीडिया पर करती हैं.

बेदी ने संवाददाताओं को भेजे गए अपने वॉट्सएप संदेश में कहा, ‘ नारायणसामी ने जो पत्र मीडिया में जारी किए हैं, अगर यह वही पत्र है जो उन्होंने उप राज्यपाल को लिखा था तो मैं यह सूचित करना चाहती हूं कि यह मूल पत्र मुख्यमंत्री को वापस भेज दिया गया है क्योंकि इसे किसी संवैधानिक पद पर बैठे शख्स को लिखा गया अशिष्ट पत्र माना गया है.’

बेदी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने इससे पहले भी कई ‘अशिष्ट’ पत्र लिखे हैं और अब तो इस तरह का पत्र लिखना एक अभ्यास ही बन गया है. उन्होंने कहा, ‘ मैं आशा करती हूं कि मुख्यमंत्री यह महसूस करेंगे कि इस तरह का पत्र मुख्यमंत्री जैसे जिम्मेदार पद पर बैठे लोगों की शोभा नहीं बढ़ाता है.’

किरण बेदी ने PM मोदी को लिखा पत्र, पुडुचेरी के CM के आरोपों को किया खारिज

नारायणसामी द्वारा 10 अगस्त को बेदी को लिखे गए पत्र में कहा गया था, ‘ बेदी को बिना संबंधित मंत्री के अधिकारियों को आदेश जारी करने का कोई स्वतंत्र अधिकार नहीं है.’

केंद्र व उपराज्यपाल के अवरोधों के चलते प्रदेश के काम-काज में बाधा: वी नारायणसामी

मुख्यमंत्री वी नारायणसामी इससे पहले भी केंद्र की भाजपा शासित नरेंद्र मोदी सरकार और उप राज्यपाल किरण बेदी पर राजकीय कार्यों में अवरोध पैदा करने के आरोप लगा चुके हैं.  नारायणसामी ने केंद्रशासित प्रदेश में बजट में देरी के लिए भी केंद्र और उपराज्‍यपाल को जिम्‍मेदार ठहराया था. उनका दावा है कि उनकी सरकार को केंद्र और उपराज्यपाल द्वारा पैदा किए जा रहे अवरोधों की वजह से नियमित प्रशासनिक कामकाज करने में संघर्ष करना पड़ रहा है. उन्होंने कहा था कि पुडुचेरी विधानसभा में दो जुलाई को पेश बजट को मई में ही पेश हो जाना चाहिए था.