Puducherry Political Crisis LIVE: पुडुचेरी में वी नारायणसामी की सरकार रहेगी या जाएगी, इसका फैसला आज होना है. इसके साथ ही पुडुचेरी में कांग्रेस-डीएमके की गठबंधन सरकार के लिए सोमवार का दिन बेहद अहम है. आज सरकार को विधानसभा में बहुमत साबित करना है और इसके लिए सीएम वी नारायणसामी विधानसभा के विशेष सत्र में शामिल होने पहुंच गए हैं.Also Read - UP Election 2022: ग्रेटर नोएडा में अमित शाह का ‘प्रभावी मतदाता संवाद’, कहा- यूपी चुनाव 20 साल के लिए दिशा तय करेंगे

Also Read - Punjab Eections 2022: BJP ने 27 उम्मीदवारों की जारी की एक और List

आज विधानसभा में मुख्‍यमंत्री वी. नारायणसामी के विश्‍वास प्रस्‍ताव पर मतदान होगा. उपराज्‍यपाल तमिलिसाई सुंदरराजन ने नारायणसामी सरकार को आज शाम पांच बजे तक सदन में बहुमत सिद्ध करने का निर्देश दिया है. Also Read - UP Elections 2022: अमित शाह ने बीजेपी के पक्ष में डोर-टू- डोर पर्चे बांटे, सपा-बसपा पर हमला किया

कुछ ही देर में बहुमत के लिए मतदान की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी. बता दें कि रविवार को कांग्रेस और डीएमके के एक-एक विधायक ने इस्तीफा दे दिया था इससे राज्य सरकार बहुमत के लिए जरूरी आंकड़े से नीचे आकर 11 पर पहुंच गई थी.

आज यदि विश्वास मत के दौरान सभी सत्तारूढ़ विधायक मौजूद रहते भी हैं तो सरकार 11 वोटों के कारण बहुमत के आंकड़े से पीछे रह जाएगी. इसपर कांग्रेस नेता का कहना है कि दो महीने से भी कम समय में चुनाव होने हैं इसलिए हम उस दिशा में काम करेंगे. वहीं भाजपा नेता का कहना है कि हम सरकार बनाने का दावा नहीं करेंगे.

बता दें कि एक हफ्ते बाद राज्य में चुनाव की तारीख का एलान होना है तो लगभग 60 दिनों के लिए सरकार चलाने का क्या फायदा है.

अभी पुडुचेरी विधानसभा में कुल सदस्यों की संख्या 33 है. कांग्रेस विधायक के लक्ष्मीनारायणन और डीएमके विधायक वेंकटेशन ने रविवार को अपने इस्तीफे की घोषणा की थी. कांग्रेस और डीएमके के विधायकों के इस्तीफे के बाद विधानसभा में कांग्रेस-डीएमके के पास 11 जबकि विपक्ष के पास 14 विधायक हैं. वहीं सात सीटें खाली हैं.

पुडुचेरी के एक कांग्रेस नेता ने कहा, ‘हमें विश्वास मत में शामिल होने या उपराज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंपने पर फैसला लेना है.’ उपराज्यपाल ने सत्तारूढ़ गठबंधन को शाम पांच बजे तक बहुमत साबित करने के लिए कहा है.