पुडुचेरी: पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी ने शुक्रवार को एक कार्यक्रम में यहां की उपराज्यपाल किरण बेदी के भाषण का अनुवाद किया. कई मुद्दों को लेकर टकराने वाले और एक-दूसरे की आलोचना का मौका कभी नहीं छोड़ने वाले नारायणसामी और बेदी के बीच यह मिलनसारिता कार्यक्रम में मौजूद प्रतिनिधियों के लिए सुखद आश्चर्य की बात रही.

हालांकि दोनों की इस मिलनसारिता में भी खींचतान की झलक देखने को मिली. यह भाषण किरण बेदी ने 53वें वार्षिक साहित्यिक महोत्सव कंबन विझा के उद्घाटन के मौके पर दिया जिसका उन्होंने नारायणसामी से अनुवाद करने को कहा.

बेदी ने मुख्यमंत्री से कहा कि वह वही अनुवाद करें जो वह कहेंगी, जिस पर नारायणसामी ने कहा कि वह इसकी गारंटी नहीं दे सकते. बेदी ने इस पर कहा, “ मैं आप पर केवल 10 मिनट के लिए भरोसा कर रही हूं और यह सिर्फ अस्थायी मित्रता है. ” नारायणसामी ने कहा कि वह “ स्थायी दोस्ती ” की कामना करते हैं और इतना कहकर उन्होंने बेदी के भाषण का अनुवाद शुरू कर दिया.

शुरुआत में शिक्षा मंत्री आर कमलकानन ने उनके भाषण को तमिल में अनुवाद करने की बात कही लेकिन बेदी ने कहा कि वह चाहती हैं कि मुख्यमंत्री मेरी बात का अनुवाद करें. अपने भाषण में बेदी ने “ रामायण ” और “ कंब रामायण ” की विशेषताओं पर रोशनी डाली.