नई दिल्ली: पुलवामा आतंकी हमले पर कुछ दिनों तक राजनीतिक बयान देने में संयम बरतने के बाद मंगलवार को कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि बड़ी सुरक्षा खामियां हुई हैं. पार्टी ने यह भी कहा कि अब प्रधानमंत्री वादा करें कि वह पाकिस्तान जाकर ‘झप्पी’ नहीं डालेंगे और अपने कहे मुताबिक कदम उठाएंगे. कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने ट्वीट कर कहा, ‘कांग्रेस बेहद जिम्मेदार पार्टी है और वह पुलवामा की घटना के बाद संयमित रही. 2014 से पहले नरेंद्र मोदी छोटी से छोटी घटना पर बहुत भड़काऊ बयान देते थे और तत्कालीन प्रधानमंत्री का इस्तीफा मांगते थे.’ Also Read - Pulwama Attack: पुलवामा हमले की दूसरी बरसी पर टला बड़ा हादसा, जम्मू में 7 किलो विस्फोटक मिला

Also Read - लालू प्रसाद यादव जेल से आने को हैं तैयार, फिर भी हो रही देर, क्योंकि...

पुलवामा हमला: सेना ने कहा- कितने गाजी आए, कितने गए, आतंकियों को हरगिज नहीं छोड़ेंगे Also Read - आतंकी Masood Azhar के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी, पुलवामा हमले का मास्टरमाइंड है JeM प्रमुख

सेना ने कहा-100 घंटे में मार गिराए जैश के कमांडर, मेन स्ट्रीम में लौटें बंदूक उठा चुके युवा नहीं तो मारे जाएंगे

ऐसी घटनाएं दोबारा न हों

उन्होंने कहा, ‘हमने उरी, संसद हमले और पुलवामा के बाद भी यह नहीं किया. लेकिन बड़ी सुरक्षा ख़ामियों को दूर करना होगा ताकि ऐसी घटनाएं दोबारा नहीं हों.” सिंघवी कहा, ‘कुल 78 वाहनों में 2500 जवानों को ले जाने का हास्यास्पद विचार था, सुरक्षा बलों के गुजरते समय ही आम लोगों के वाहनों के आने जाने की इजाजत दी गयी, जैश-ए-मोहम्मद की ओर से आत्मघाती हमले किये जाने संबन्धी खुपिया रिपोर्ट की अनदेखी क्यों की गई. क्या 56 इंच के सीने द्वारा यही ध्यान दिया गया?’

बातचीत करने का समय बीत गया

पार्टी के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने कहा, “मोदी जी, आप कहते हैं कि बातचीत करने का समय बीत गया है. शायद आप सही हों, लेकिन अब कहने के मुताबिक करने का समय है. उन्होंने 2015 में हुए प्रधानमंत्री मोदी के पाकिस्तान दौरे का हवाला देते हुए कहा, ‘आप हमसे वादा करिये – अब कोई झप्पी नहीं डालेंगे, अब कोई जन्मदिन का जश्न नहीं होगा.” गौरतलब है कि पुलवामा हमले के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा था कि पार्टी कुछ दिनों तक राजनीतिक चर्चा नहीं करेगी और वह अपने जवानों एवं सरकार के साथ खड़ी है. गत 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आत्मघाती आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 से अधिक जवान शहीद हो गए थे. (इनपुट भाषा)

पुलवामा आतंकी हमला: पाकिस्तानी नागरिकों को 48 घंटे में बीकानेर खाली करने का आदेश