#PulwamaNahinBhulenge: आज पुलवामा हमले (Pulwama Attack) की पहली बरसी है. पुलवामा हमले का एक साल पूरा होने पर पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने हमले में शहीद होने वाले सीआरपीएफ (CRPF) जवानों को श्रद्धांजलि दी है. पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि पुलवामा हमले में खुद को न्योछावर करने वाले जवानों को श्रद्धांजलि. देश जवानों की शहादत को कभी नहीं भूलेगा. इन जवानों ने अपना जीवन देकर देश की रक्षा की.

#PulwamaAttack: पुलवामा हमले से सदमे में था पूरा देश, आज के दिन ही सपूतों ने दी थी शहादत

इसी तरह गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने भी शहीद जवानों को याद किया. उन्होंने कहा कि हम उन जवानों को नहीं भूल पाएंगे. साथ ही जवानों के परिवारों को भी नमन जिन्होंने ये दुःख झेला.

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने अपने ट्वीट में कहा ‘‘2019 में आज के ही दिन जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद सीआरपीएफ के जवानों को याद कर रहा हूं. भारत उनके बलिदान को कभी नहीं भूल पायेगा.’’ उन्होंने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ पूरा देश एकजुट है और हम इस बुराई के खिलाफ लड़ाई को जारी रखने को प्रतिबद्ध हैं.

#PulwamaNahinBhulenge: पुलवामा हमले में शहीद 40 CRPF जवानों की याद में बनाया गया स्मारक

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने कहा, ‘‘वर्ष जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद होने वाले हमारे सीआरपीएफ के जवानों को नमन करता हूं. देश हमारे वीर जवानों की शहादत सदैव स्मरण रखेगा.’’ जेपी नड्डा ने अपने ट्वीट में कहा, ‘‘हम सभी एकजुट होकर आतंकवाद को जड़ से समाप्त करने के लिए प्रतिबद्ध हैं.’’ गृहमंत्री अमित शाह ने कहा, ‘‘मैं पुलवामा हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि देता हूं . अपनी मातृभूमि की सम्प्रभुता और अखंडता के लिये अपना सर्वस्व न्योछावर करने वाले हमारे बहादूर जवानों और उनके परिवारों के प्रति भारत हमेशा आभारी रहेगा.’’

पुलवामा की बरसी पर राहुल गांधी के सवाल- हमले से किसको हुआ फायदा, जांच में क्या निकला नतीजा?

दरअसल, 14 फरवरी 2019 को जम्मू से श्रीनगर की तरफ सीआरपीएफ (CRPF) के जवानों का एक काफिला आ रहा था. इस काफिले में करीब 38 से 40 गाड़ियां शामिल थीं. जिसमें सीआरपीएफ (CRPF) के 2 हज़ार 500 जवान सवार थे. दोपहर करीब साढ़े तीन बजे पुलवामा के अवंतिपुरा इलाके के पास इस काफिले में शामिल एक बस हमले की चपेट में आ गई. एक आतंकी ने विस्फोटक से भरी एक कार से जवानों की एक बस में टक्कर मार दी थी. इसके साथ ही एक भयानक विस्फोट हुआ. और सीआरपीएफ की बस के टुकड़े-टुकड़े हो गए. इस बस में सीआरपीएफ (CRPF) की अलग-अलग बटालियन के जवान थे. घटना को अंजाम देने के लिए करीब 200 किलो विस्फोटक का इस्तेमाल किया गया था.