तिरूवनंतपुरम: केरल सरकार ने पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए राज्य के सीआरपीएफ जवान वी वी वसंत कुमार के परिवार को 25 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की मंगलवार को घोषणा की. मुख्यमंत्री पिनराई विजयन की अध्यक्षता में राज्य कैबिनेट ने जवान के दो बच्चों अमनदीप (पांच) और बेटी अनामिका (आठ) की पढ़ाई का खर्च वहन करने का भी निर्णय किया. Also Read - LAC पर तनातनी के बीच भारतीय सेना ने चीन को उसका सैनिक लौटाया, लद्दाख बॉर्डर के पास पकड़ा गया था

Also Read - Hyderabad Rain Updates: हैदराबाद में बारिश से हालात खराब, स्टैंडबाय पर रखी गईं सेना की राहत टीमें

Blog: इमरान खान शर्म करो, सबूत मांगना बंद करो! Also Read - जल्द छोड़ा जाएगा हिरासत में लिया गया चीनी सैनिक, भारतीय सेना ने दिए गर्म कपड़े और खाना

हर संभव मदद करेंगे

विजयन ने बाद में संवाददाताओं से कहा कि वसंत की पत्नी शीना की अस्थायी नौकरी को स्थायी करने के लिए कदम उठाए जाएंगे. वह इस समय पशु चिकित्सा विश्वविद्यालय में सहायक के तौर पर कार्यरत हैं. उन्होंने कहा कि वायनाड जिला निवासी शहीद जवान के शोकसंतप्त परिवार के लिए एक नए घर का भी निर्माण किया जाएगा. मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘सरकार पुलवामा में आतंकी हमले में सीआरपीएफ के जवानों के शहीद होने पर दुख व्यक्त करती है. हमारे इन भाइयों में वायनाड का भी एक जवान शामिल था. उन्होंने कहा हमने उनके परिवार को मदद देने का निर्णय किया है.

पुलवामा अटैक: इंडियन आर्मी पर आपत्तिजनक पोस्ट करने वाली गुवाहाटी की टीचर सस्पेंड

राज्य सरकार शहीद जवान की पत्नी को 15 लाख और मां को 10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देगी. गौरतलब है कि 14 फरवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती हमलावर के हमले में सीआरपीएफ के 40 से अधिक जवान शहीद हो गए थे. आतंकियों के इस कायराना हमले से पूरे देश का गुस्सा उबाल पर है. इंडियन आर्मी ने मुठभेड़ में पुलवामा अटैक के मास्टर माइंड को मार गिराने में सफलता हासिल की है. मंगलवार को श्रीनगर में सेना, सीआरपीएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेस की. लेफ्टिनेंट जनरल के जे एस ढिल्लन  ने कहा कि हमने पुलवामा हमले के 100 घंटे के भीतर जैश ए मोहम्मद के टॉप कमांडर को मार गिराया. उन्होंने कश्मीर के गुमराह युवाओं को भी मुख्य धारा में लौटने को कहा.

पुलवामा हमला: सेना ने कहा- कितने गाजी आए, कितने गए, आतंकियों को हरगिज नहीं छोड़ेंगे