नई दिल्ली: पुलवामा आतंकी हमले में पाकिस्तान की भूमिका को लेकर पाक के प्रधानमंत्री इमरान खान की ओर से सबूत मांगे जाने पर जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने कहा कि पाकिस्तान को एक मौका देना चाहिए. महबूबा ने कहा, चाहे बात मुंबई हमले की हो या पठानकोट हमले की पाकिस्तान को सबूत दिए गए लेकिन उन्होंने कोई एक्शन नहीं लिया. चूकिं इमरान खान नए प्रधानमंत्री हैं और वह एक नए शुरुआत की बात कर रहे हैं. ऐसे में उन्हें एक मौका देना चाहिए. हमे सबूत देकर देखना चाहिए कि वह क्या कार्रवाई करते हैं.

महबूबा के इस बयान पर सीनियर बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा कि महबूबा को पाकिस्तान के प्रति प्रेम दिखाना बंद कर देना चाहिए. सिंह ने कहा, मैं महबूबी मुफ्ती को केवल इतना ही कहना चाहूंगा कि वह पाकिस्तान प्रेम करना छोड़ दें.भारत का खाती हैं भारत का गाएं, आस्तीन का सांप न बनें.

मंगलवार को महबूबा मुफ्ती ने कहा था कि पाकिस्तान को पुलवामा हमले के लिए सबूतों के आधार पर ही जिम्मेदार ठहराया जा रहा है. उन्होंने वहां के प्रधानमंत्री इमरान खान से कहा कि उनकी कथनी और करनी एक होनी चाहिए. उन्होंने एक ट्वीट में कहा, ‘असहमत. उन्हें (पाकिस्तान को) पठानकोट हमले पर डोजियर दिया गया था, लेकिन षड्यंत्रकारियों को दंडित करने के लिए कोई कार्रवाई नहीं की गई. यह समय कथनी और करनी एक होने का है.

महबूबा ने कहा, ‘‘…पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को एक अवसर मिलना चाहिए क्योंकि उन्होंने हाल ही में कमान संभाली है. नि:संदेह (भारत में) युद्ध उन्माद का आसन्न चुनावों से ज्यादा संबंध है. खान ने मंगलवार को भारत से कहा कि यदि भारत हमले पर कार्रवाई योग्य सबूत’ उपलब्ध कराता है तो षड्यंत्रकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.