नई दिल्लीः जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले की घटना पर दुख जताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस हमले के दोषियों को इसकी बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी. उन्होंने कहा कि जो लोग इस घटना के बाद उनकी आलोचना कर रहे हैं उन्हें ऐसा करने का अधिकार है, मैं उनकी भावनाओं को समझता हूं. लेकिन वे भरोसा रखें. इस हमले के दोषी नहीं बचेंगे. उन्होंने कहा कि आतंकवाद के सरपरस्तों को जरूर सजा मिलेगी. उन्होंने कहा कि इस घटना का जवाब देने के लिए सुरक्षा बलों को पूर्ण स्वतंत्रता दे दी गई है.

वंदे भारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाते हुए प्रधानमंत्री ने पाकिस्तान का नाम लिए बिना कहा कि हमारे पड़ोसी को लगता है कि वह इस तरह भारत को तबाह कर सकता है, लेकिन उसके ये मंसूबे कभी पूरे नहीं होंगे. प्रधानमंत्री ने कहा कि आज राष्ट्र एकजुट है. हमने इस हमले का जवाब देने के लिए सुरक्षा बलों को पूरी छूट दे दी है.

पीएम ने कहा कि यह एक नाजुक पल है. इस हमले का पूरा देश एकजुट होकर मुकाबला कर रहा है. पूरी दुनिया को एक स्वर में यही आवाज सुनाई दे रही है. उन्होंने कहा कि आज हम जो लड़ाई लड़ रहे हैं उसे जीतने के लिए लड़ रहे हैं.

इससे पहले पुलवामा हमले के बाद सुरक्षा मामलों की कैबिनेट की चली बैठक के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी कहा कि इस हमले को अंजाम देने वालों और इसका सहयोग करने वालों को इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ेगी. जेटली ने कहा कि गृहमंत्री राजनाथ सिंह श्रीनगर के दौरे पर जा रहे हैं. वह वहां की स्थिति का जायजा लेकर शनिवार को सभी दलों को इसके बारे में बताएंगे.