मुंबई: पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान को लेकर दिए गए बयान के बाद पंजाब सरकार के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को कपिल शर्मा के कॉमेडी शो से हटा दिया गया है. एएनआई की खबर के अनुसार, सिद्धू को हटाए जाने की खबर है. इससे पहले मुंबई बीजेपी की युवा मुंबई भाजपा की युवा इकाई ने शो प्रसारित करने वाले चैनल के दफ्तर के बाहर प्रदर्शन किया था. अब सिद्धू को पंजाब कैबिनेट से भी हटाए जाने की मांग की गई है.Also Read - क्या कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल होंगे अमरिंदर सिंह? इस्तीफे के बाद बताया फ्यूचर प्लान

Also Read - पाकिस्तानी पीएम के दोस्त नवजोत सिंह सिद्धू सीएम बने तो देश को होगा खतरा, मैं विरोध करूंगा: अमरिंदर सिंह

नवजोत सिद्धू ने पुलवामा हमले को बताया कायरतापूर्ण, कहा- ’71 साल से ये सब हो रहा है, क्या वो कभी रुके हैं’ Also Read - पंजाब: इस्तीफे के बाद अमरिंदर सिंह ने कहा- कांग्रेस जिसे चाहे बना ले सीएम, मैं अभी नहीं करूंगा स्वीकार

दरअसल, हमले के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराए जाने के बीच सिद्धू ने अपने एक बयान में कहा था, ‘‘क्या आप पूरे देश को जिम्मेदार ठहरा सकते हैं.’’ सिद्धू ने शुक्रवार को पंजाब विधानसभा के बाहर बातचीत में पुलवामा में सीआरपीएफ के जवानों पर हुए आतंकवादी हमले की निंदा की थी और इसे कायराना हरकत करार दिया था. साथ ही कहा था, ‘‘मुट्ठी भर लोगों के लिए क्या आप पूरे देश को जिम्मेदार ठहरा सकते हैं और क्या आप किसी एक व्यक्ति को जिम्मेदार ठहरा सकते हैं?’’

आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ जवानों की शहादत के बाद सिद्धू ने पत्रकारों से कहा था, ‘‘यह कायरतापूर्ण कार्रवाई है और मैं सख्ती से इसकी निंदा करता हूं. हिंसा हमेशा निंदनीय है और जिन लोगों ने यह किया उन्हें सजा मिलनी चाहिए.’’ सिद्धू ने कहा कि आतंकवाद का कोई धर्म और उसकी कोई जाति नहीं होती. उन्होंने कहा, ‘‘पिछले 71 साल से यह सब हो रहा है. क्या वह कभी रूके हैं.’’ कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘मेरे लिए हिंसा हमेशा निंदनीय है. मैं हमेशा अहिंसा में विश्वास रखता हूं. किसी भी समस्या का समाधान हिंसा नहीं है. मेरे लिए आगे बढ़ने के लिए अहिंसा सबसे प्रबल हथियार है.

भारतीय जनता युवा मोर्चा के महासचिव प्रदीप व्यास ने सिद्धू के इस बयान के लिए उनकी निंदा की और प्रश्न किया कि क्यों वह हमेशा पाकिस्तान का पक्ष लेते हैं. व्यास ने कहा, ‘‘जब पूरा देश सीआरपीएफ के जवानों की मौत से गमजदा है, सिद्धू पाकिस्तान का पक्ष ले रहे हैं. उन्हें अलग थलग किए जाने और उनका बहिष्कार किए जाने की जरूरत है. इसलिए हमने सोनी चैनल के अधिकारियों से उन्हें कॉमेडी शो से हटाने की मांग की थी.’’