नई दिल्ली। देश में रहने के लिहाज से महाराष्ट्र का पुणे पहले नंबर पर है. राजधानी दिल्ली इस मामले में काफी पिछड़ी हुई है और उसे टॉप 50 में भी जगह नहीं मिली है. आवास एवं शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी की और से आज जारी जीवन सुगमता सूचकांक में पुणे अव्वल रहा है. नवी मुंबई को दूसरा स्थान मिला है जबकि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली को 65वां स्थान हासिल हुआ है.

टॉप 10 में ये शहर

मंत्रालय के मुताबिक, ग्रेटर मुंबई को तीसरा रैंक मिला है. इसके बाद तिरुपति, चंडीगढ़, ठाणे, रायपुर, इंदौर, विजयवाड़ा और भोपाल का स्थान आता है. यह सर्वेक्षण देश के 111 शहरों में किया गया. पुरी ने कहा कि जीवन सुगमता सूचकांक चार मानदंडों-शासन, सामाजिक संस्थाओं, आर्थिक और भौतिक अवसंरचना पर आधारित है.

कोलकाता ने सर्वे में हिस्सा लेने से किया इनकार

चेन्नई को 14वां और नई दिल्ली को 65वां स्थान मिला है. आवास और शहरी मामलों के मंत्री ने कहा कि कोलकाता ने सर्वेक्षण में हिस्सा लेने से मना कर दिया था.

स्वच्छता सर्वे: इन राजधानियों को मिली टॉप 10 में जगह

यह सर्वे देश के 111 शहरों में किया गया है. उत्तर प्रदेश का रामपुर शहर सबसे निचले पायदान पर है. तमिलनाडु, गुजरात, बिहार जैसे बड़े राज्यों का कोई शहर टॉप 10 में जगह नहीं बना सका. टॉप 10 शहरों की सूची में पहले नंबर पर पुणे, दूसरे नंबर पर नवी मुंबई, तीसरे नंबर पर ग्रेटर मुंबई, चौथे नंबर पर तिरुपति, पांचवें नंबर पर चंडीगढ़, छठे नंबर पर ठाणे, 7वें नंबर पर रायपुर, आठवें नंबर पर इंदौर, नौवें नंबर पर विजयवाड़ा और दसवें नंबर पर भोपाल है.