चंडीगढ़: पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने शुक्रवार को अमृतसर में रावण दहन के दौरान हुए रेल हादसे के कारण अपने पांच दिवसीय इजराइल दौरे को रद्द कर दिया है. इस दुर्घटना में 50 से अधिक लोगों के मारे जाने की आशंका है. मुख्यमंत्री कार्यालय ने कहा कि मुख्यमंत्री का इजराइल दौरा रद्द कर दिया गया है. वह शनिवार की सुबह अमृतसर पहुंचेंगे. वहीँ, मुख्यमंत्री ने मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए के मुआवजे व घायलों के मुफ्त इलाज की सहायता की घोषणा की है. घायलों को अस्पताल ले जाया जा रहा है.

अमृतसर में दशहरा पर बड़ा ट्रेन हादसा, 50 से ज्यादा लोगों के मौत की आशंका 

अमरिंदर सिंह ने इस हादसे पर दुख व्यक्त किया और प्रशासन को राहत एवं बचाव अभियान को तेज करने का निर्देश दिया है. मुख्यमंत्री की पांच दिवसीय यात्रा 21 अक्टूबर से शुरू होनी थी. बड़ी संख्या में लोग रेल पटरी पर खड़े होकर रावण दहन देख रहे थे. इसी दौरान रेलगाड़ी आ गई और बड़ी तादाद में लोग इसकी चपेट में आ गए. रावण दहन के दौरान पटाखों की गूंज की वजह से लोग ट्रेन की सीटी नहीं सुन सके. सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने गृह सचिव, स्वास्थ्य सचिव और एडीजीपी को मौके पर पहुंचने के लिए कहा है. सीएम शनिवार को खुद मौके पर पहुंचेंगे.

VIDEO: पुतले को मोबाइल में कैद कर रहे थे लोग और देखते-देखते ट्रेन से कट गए कई

अमृतसर में दशहरा के मौके पर बड़ा रेल हादसा हुआ है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, जोड़ा फाटक के पास ये हादसा हुआ है. बताया जा रहा है कि 30 लोगों की मौत हो गई है और ये आंकड़ा 100 तक पहुंच सकता है. वहां 300 से ज्यादा लोगों के होने की सूचना है. घटना के बाद वहां चीख-पूकार मच गई है. चारोंतरफ अफरा-तफरी का माहौल है. सूचना मिलते ही वहां आला अफसर पहुंच गए हैं. घायलों को अस्पताल पहुंचाया जा रहा है और राहत कार्य जारी है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रेलवे ट्रैक के पास रावण दहन हो रहा था. जैसे ही रावण के पुतले को आग लगाई गई, वहां पटाखे छोड़े जाने लगे. इसी बीच पटाखे की आवाज के बीच ट्रैक पर ट्रेन आ गई और वहां बैठे लोग उसकी चपेट में आ गए. ट्रेन पठानकोट से अमृतसर के तरफ जा रही थी. रेलवे ने अभी मरने वालों की संख्या की पुष्टि नहीं की है. उसके मुताबिक, लोकट ट्रेन एमयू आ रही थी, जिसकी चपेट में लोग आ गए.