नई दिल्ली. पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने शनिवार को आरोप लगाया कि पाकिस्तान भारतीय सीमाओं के माध्यम से उत्तरी राज्यों में युवाओं को बर्बाद करने के लिए मादक पदार्थ ‘भेज’ रहा है. उन्होंने मादक पदार्थ के खतरे से निपटने के लिए एक राष्ट्रीय नीति बनाने की मांग की.

उन्होंने राज्यों की शक्तियों में आ रही कमी पर भी चिंता जताते हुए कहा कि इससे केंद्र-राज्य के बीच संघीय ढांचे का संबंध कमजोर हो रहा है.

‘एचटी लीडरशिप समिट’ में पंजाब के मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि दिल्ली और मुंबई में मादक पदार्थ के अच्छे दाम मिल सकते हैं लेकिन इसके बावजूद गुजरात से मादक पदार्थ पंजाब भेजे जा रहे हैं. ऐसा करने के पीछे का उद्देश्य भारत सेना की शक्ति को कम करना है क्योंकि सेना में दो तिहाई भर्तियां उत्तरी राज्यों से की जाती हैं.

समिट में अमरिंदर सिंह ने यह भी स्पष्ट किया कि उन्हें केंद्र के साथ मिलकर काम करने में कोई समस्या नहीं है. उन्होंने कहा कि उनका राज्य वित्तीय क्षेत्र में और प्रमुख नियुक्तियों के संबंध में समस्याओं का सामना कर रहा है.