चंडीगढ़ः गुरु नानक देव की जयंती के शुभ अवसर पर पंजाब सरकार कैदियों को एक बड़ा तोहफा देने जा रही है. पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने शनिवार को कहा कि उनकी सरकार गुरु नानक देव के 550 वें प्रकाशपर्व पर 550 कैदियों को मानवीय आधार पर रिहा करेगी. उन्होंने कहा कि ये लोग किसी भी तरह से समाज के लिए कोई खतरा नहीं है.

टिहरी में भू-स्खलन से पंजाब के 6 तीर्थयात्रियों की मौत, मोहाली से मत्था टेकने जा रहे थे हेमकुंड साहिब

उन्होंने कहा कि 550 वां प्रकाश पर्व पहले सिख गुरु की दया की विचारधारा का अनुसरण करने और 550 कैदियों को रिहा करने का अच्छा अवसर है. सिंह ने एक आधिकारिक बयान में, पूरे देश में नौ सिख कैदियों की विशेष रिहाई के राज्य सरकार के प्रस्ताव को स्वीकार करने के लिए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को भी धन्यवाद दिया. मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन कैदियों को रिहा किया जा रहा है उनके आचरण और कार्य को ध्यान में रखकर यह फैसला लिया गया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिकी दौरे के बाद स्वेदश पहुंचे, एयरपोर्ट पर हुआ भव्य स्वागत

पंजाब सरकार ने अपने इस फैसले की जानकारी देते हुए कहा कि यह सभी कैदी वे लोग है जो छोटे मोटे आरोपों में लाए गए थे और इन्होंने अपनी सजा लगभग पूरी कर ली है. उन्होंने कहा कि इससे इन सभी 550 कैदियों को एक बार फिर से अपनी नए जीवन को शुरू करने का मौका मिलेगा और हम उम्मीद करते हैं कि ये सभी लोग आगे चलकर समाज हित में अपनी भागेदारी देंगे.

इमरान की बात को क्यों तवज्जो दें जिन्हें नहीं पता कि मोदी प्रधानमंत्री हैं या राष्ट्रपति: कांग्रेस

सरकार की तरफ जारी बयान में कहा गया कि इन सभी लोगों ने अपनी सजा के दौरान जेल परिसर में अच्छा बर्ताव किया और भली प्रकार से दिए गए कामों में अपनी सहभागिता दर्ज कराई. मुख्यमंत्री ने कहा कि ये लोग भी हमारे समाज का ही हिस्सा हैं और इनसे किसी को भी किसी प्रकार का खतरा नहीं है.