नई दिल्‍ली: पंजाब में जहरीली शराब मामले में पार्टी के सांसद के निशाने पर आई राज्य की कैप्‍टन अमरिंदर सिंह सरकार ने एमपी प्रताप सिंह बाजवा की सुरक्षा से राज्‍य पुलिस की सुरक्षा वापस लेने का फैसला किया है. पंजाब में जहरीली शराब से हुई 121 मौतों को लेकर कांग्रेस सांसद ने राज्‍य में नेतृत्‍व बदलने की मांग कर चुके हैं. अब देखना होगा कि ये मामला किस अंजाम तक पहुंचता है. बता दें कि बाजवा कांग्रेस प्रदेश अध्‍यक्ष भी रह चुके हैं. Also Read - मध्यप्रदेश: शिवराज सिंह चौहान ने किया ऐसा ट्वीट की भड़क गई कांग्रेस, कर डाली चुनाव आयोग से शिकायत

पंजाब सरकार ने कांग्रेस सांसद प्रताप सिंह बाजवा से राज्य पुलिस सुरक्षा वापस लेने का फैसला किया है. एक आकलन के बाद पता चला है कि उन्हें वस्तुतः कोई खतरा नहीं है और किसी भी मामले में कोई भय भी नहीं है. अब केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा उन्‍हें सीधे केंद्रीय सुरक्षा मिल रही है. Also Read - एमपी में कांग्रेस उपचुनाव जीती, तो दोबारा "परदे के पीछे मुख्‍यमंत्री" बन जाएंगे दिग्विजय सिंह: ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया

एक आधिकारिक प्रवक्ता ने  कहा, “पंजाब सरकार ने कांग्रेस सांसद प्रताप सिंह बाजवा की राज्य पुलिस सुरक्षा हटाने का निर्णय लिया है. हमारी समीक्षा में पाया गया कि उन्हें किसी भी प्रकार का खतरा नहीं है और अब उन्हें केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा प्रदान की गई केंद्रीय सुरक्षा दी जाएगी.”
प्रवक्ता ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा व्यक्तिगत सुरक्षा प्राप्त करने के बाद बाजवा को दी गई राज्य पुलिस सुरक्षा का कोई अर्थ नहीं था. Also Read - Board Syllabus: कांग्रेस नेता का सीएम को पत्र, कहा- कक्षा 12वीं के सिलेबस में नेहरू की नीतियों वाली अध्यायों को बनाए रखा जाए  

हमें राज्य में नेतृत्व बदलने की जरूरत है: एमपी बाजवा 
बता दें कि कांग्रेस सांसद प्रताप सिंह बाजवा पंजाब में जहरीली शराब से हुई 121 मौतों को लेकर मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह पर निशाना साधते हुए कहा था कि बादल के शासन में स्थापित खनन, शराब, केबल, ड्रग्स और परिवहन माफिया पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के शासन में संपन्न हो रहे हैं. अगर कांग्रेस के भविष्य को बचाना है तो हमें राज्य में नेतृत्व बदलने की जरूरत है.

पंजाब सरकार ने हेल्पलाइन / शिकायत नंबर जारी क‍िया

इस बीच पंजाब सरकार ने एक हेल्पलाइन / शिकायत नंबर जारी क‍िया है.  आबकारी विभाग, पंजाब ने आबकारी अपराधों के बारे में सूचना / शिकायत दर्ज करने के लिए एक हेल्पलाइन / शिकायत नंबर 98759-61126 जारी किया है, जैसे कि शराब की तस्करी, शराब बनाने के लिए अवैध भट्टियां / इकाइयां, आदि. सूचना देने वाले का नाम गोपनीय रखा जाएगा.

सुखबीर सिंह बादल सोनिया गांधी के आवास के बाहर धरने पर बैठेंगे
वहीं, शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल 11 अगस्त को दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास के बाहर धरने पर बैठेंगे, जिसमें ‘पंजाब में 100 से अधिक लोगों की जहरीली शराब के सेवन से मौत होने के मामले को लेकर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा.

CBI या ED द्वारा जांच होनी चाहिए: प्रताप सिंह बाजवा 
कांग्रेस एमपी प्रताप सिंह बाजवा ने कहा, सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के पास आबकारी एवं कराधान, गृह विभाग और पुलिस है. सभी उंगलियां आबकारी विभाग की उठाई जा रहीं हैं. अगर जहरीली शराब में मारे गए 121 लोगों को न्याय दिया जाना है तो CBI या ED द्वारा जांच होनी चाहिए.