Punjab News: पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) शुक्रवार को उस कार्यक्रम में शामिल होंगे जहां नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) औपचारिक रूप से प्रदेश कांग्रेस प्रमुख के रूप में पदभार संभालेंगे. नवनियुक्त चार कार्यकारी अध्यक्षों में से एक कुलजीत सिंह नागरा ने इसकी पुष्टि की और कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री को पदभार संभालने के कार्यक्रम के लिए औपचारिक निमंत्रण दिया है.Also Read - पंजाब कैबिनेट में तत्काल नहीं होगा कोई फेरबदल, CM अमरिंदर बोले- सरकार ने 93% वादे पूरे किए

पिछले कुछ समय से सिद्धू और अमरिंदर का टकराव चल रहा है. अमृतसर (पूर्व) के विधायक सिद्धू ने पवित्र ग्रंथ की बेअदबी के मामले के लिए मुख्यमंत्री पर निशाना साधा था. मुख्यमंत्री ने सिद्धू को प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने का भी विरोध किया था और कहा था कि जब तक सिद्धू उनके खिलाफ अपमानजनक ट्वीट के लिए माफी नहीं मांगेंगे वह उनसे नहीं मिलेंगे. सिद्धू शुक्रवार को यहां पंजाब कांग्रेस भवन में औपचारिक रूप से चार कार्यकारी अध्यक्षों के साथ पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी का कार्यभार संभालेंगे. Also Read - Punjab Schools Reopening: पंजाब में इस तारीख से खुलेंगे स्‍कूल, अब सभी कक्षाएं होंगी शुरू

अमरिंदर सिंह और पार्टी के अन्य विधायक पहले पंजाब भवन में इकट्ठा होंगे. इसके बाद वे पदभार ग्रहण करने के कार्यक्रम स्थल पंजाब कांग्रेस भवन जाएंगे. अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (AICC) में पंजाब मामलों के प्रभारी हरीश रावत के भी इस कार्यक्रम में शामिल होने की उम्मीद है. Also Read - Punjab News: अमरिंदर सिंह ने PM मोदी को लिखा खत, करतारपुर कॉरिडोर को फिर से खोलने का किया आग्रह

एक दिन पहले पंजाब कांग्रेस के नवनियुक्त अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के आवास पर पार्टी के करीब 60 विधायक उनसे मिलने पहुंचे, जिसे राज्य के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के साथ चल रहे उनके विवाद के बीच पंजाब में पार्टी पर अपनी पकड़ दिखाने का सिद्धू का एक तरह से शक्ति प्रदर्शन माना जा रहा है. पंजाब विधानसभा में कांग्रेस के कुल 80 विधायक हैं.

इसके बाद सिद्धू के साथ पार्टी के विधायक ‘लग्जरी’ बसों में स्वर्ण मंदिर के दर्शन करने पहुंचे, जहां बड़ी संख्या में कांग्रेस समर्थक मौजूद थे. सिद्धू और सभी विधायक दुर्गियाना मंदिर और राम तीरथ स्थल भी गए.

(इनपुट: भाषा)