लुधियाना: पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की प्रतिमा को मंगलवार को कुछ लोगों ने नुकसान पहुंचाया. पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने इस घटना के लिये अकाली दल के कार्यकर्ताओं को जिम्मेदार ठहराया है. सिंह ने पुलिस से मामले में कार्रवाई करने और अपराधियों की पहचान करने को कहा है. पुलिस ने बताया कि यहां सलेम ताबरी इलाके में कुछ उपद्रवकारियों ने प्रतिमा पर पेंट छिड़क दिया.

दिल्ली विधानसभा में पूर्व पीएम राजीव गांधी से ‘भारत रत्न’ वापस लेने का प्रस्ताव पास, मचा हंगामा

उन्होंने बताया कि उपद्रवकारियों ने खुलेआम यह कृत्य किया और 1984 के सिख विरोधी दंगों के लिये राजीव गांधी को जिम्मेदार ठहराया. घटना की निंदा करते हुए मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने अपने ट्वीट में कहा, ‘लुधियाना में अकाली दल के कार्यकर्ताओं द्वारा राजीव गांधी की प्रतिमा को नुकसान पहुंचाने की जोरदार निंदा करता हूं. पुलिस से कहा है कि वह दोषी की पहचान करे और कठोर कार्रवाई करे.’

राजीव गांधी के लिए नाश्ता लेकर पहुंचने वाला IAS, व्हीलचेयर पर बैठ छत्तीसगढ़ की बाजी पलटने में जुटा

उन्होंने ट्विटर पर शिरोमणि अकाली दल प्रमुख सुखबीर बादल के कार्यालय को टैग करते हुए लिखा है, ‘”@ऑफिसऑफएसएसबादल को पंजाब की जनता से इस अप्रिय कृत्य के लिये माफी मांगनी चाहिये.’ अमरिंदर सिंह ने शिअद को भी इस कृत्य के लिये पंजाब की जनता से माफी मांगने को कहा. पुलिस ने बताया कि उपद्रवकारियों ने मांग की कि समूचे देश से राजीव गांधी की प्रतिमा हटाई जाएं और उन्हें दिया गया ‘भारत रत्न’ सम्मान वापस लिया जाए. प्रतिमा को बाद में लुधियाना कांग्रेस के कुछ नेताओं ने साफ किया. कांग्रेस की लुधियाना इकाई के अध्यक्ष गुरप्रीत सिंह ने कहा कि उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है.