चंडीगढ़: ‘गाल नी कड़नी’ फेम मशहूर पंजाबी सिंगर परमीश वर्मा को गोली मारने के आरोपी गैंगस्टर दिलप्रीत सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. सोमवार को चंडीगढ़ में एक बस स्टैंड के पास मुठभेड़ के बाद पुलिस ने इस कुख्यात गैंगस्टर को दबोच लिया. गैंगस्टर दिलप्रीत पर हत्या और पंजाबी गायकों और अभिनेताओं को जबरन धन वसूली के लिए धमकाने का आरोप है. Also Read - पंजाब के विश्वविद्यालयों में अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं 15 जुलाई तक स्थगित

पंजाब पुलिस की खुफिया इकाई और जालंधर ग्रामीण पुलिस के कर्मियों ने चंडीगढ़ के सेक्टर 43 से गैंगस्टर दिलप्रीत सिंह को गिरफ्तार किया. अधिकारियों ने बताया कि पुलिस टीम की जवाबी गोलीबारी में दिलजीत सिंह उर्फ बाबा की जांघ में गोली लगी, उसे पीजीआईएमईआर में भर्ती कराया गया है. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी गैंगस्टर दिलप्रीत की गिरफ्तारी पर पंजाब पुलिस को बधाई दी है.

पुलिस ने बताया कि गैंगस्टर दिलप्रीत मोस्ट वॉटेड गैंगस्टर है और पंजाबी गायक परमिश वर्मा पर इस साल हमला करने का आरोपी है. परमीश वर्मा और उनके दोस्त पर मोहाली में इस साल अप्रैल में कम से कम पांच अज्ञात कार सवार हमलावरों ने गोली चला दी थी और बाद में दिलप्रीत ने फेसबुक पर पोस्ट डालकर हमले की जिम्मेदारी ली थी.

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि टीम ने गैंगस्टर दिलप्रीत के पास से एक पिस्तौल और कार को जब्त किया है. उन्होंने बताया कि दिलप्रीत पंजाब का वांछित अपराधी है और उसपर पंजाब, हरियाणा, महाराष्ट्र और केंद्र शासित क्षेत्र चंडीगढ़ समेत कई राज्यों में हत्या के तीन और हत्या की कोशिश के नौ मामलों समेत 30 से ज्यादा आपराधिक मामले दर्ज हैं.